कैथल पुलिस की बड़ी कार्रवाई, अफीम तस्कर आर्मी का नायब सूबेदार सहित तीन सैनिक गिरफ्तार

कैथल। सीआइए टू पुलिस ने आर्मी में नायब सूबेदार सहित तीन सैनिकों को अफीम तस्करी मामले में गिरफ्तार किया है। तीनों को कोर्ट में पेश किया गया। जहां दोनों सैनिकों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया है, वहीं नायब सूबेदार को छह दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है।

इस मामले में तीन आरोपित 22 दिसंबर को गिरफ्तार किए जा चुके हैं, जबकि मुख्य आरोपित की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस नायब सूबेदार से पूछताछ कर रही है। नायब सूबेदार जोधपुर के एक अफीम तस्कर से नशा लेकर इन दोनों सैनिकों के माध्यम से पंजाब निवासी तीन युवकों को भेजता था। तीनों व्यक्ति आगे अफीम की तस्करी करते थे।

पुलिस ने पंजाब के इन तीनों युवकों को 22 दिसंबर को गिरफ्तार कर साढ़े तीन किलो अफीम बरामद किया था। जिसकी मार्केट में कीमत करीब साढ़े पांच लाख रुपये है। एसपी लोकेंद्र सिंह ने इस मामले की पुष्ष्टि की है।

22 दिसंबर से कार्रवाई की शुरुआत

सीआइए टू थाना प्रभारी सोमवीर ने बताया कि 22 दिसंबर की रात को पुलिस ने कैथल-संगतुपरा मार्ग पर मानस गांव के नजदीक स्थित ड्रेन पर नाका लगाया हुआ था। इसी बीच एक गाड़ी को रुकवाकर जांच की तो उसमें तीन युवक मिले। तलाशी लेने पर साढ़े तीन किलो अफीम बरामद हुई। तीनों युवकों की पहचान पंजाब के  जिला पटियाला गांव भेडपुर निवासी गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी, पंजाब के जिला पटियाला गांव हमजेड़ी निवासी कर्मजीत सिंह, पंजाब के जिला पटियाला गांव बैरसाहिब निवसी रविंद्र पाल को गिरफ्तार किया था।

राजस्‍थान कैंट में ड्यूटी

पुलिस ने तीनों का रिमांड लिया तो आरोपितों ने अफीम कहां से सप्लाई होती है और आगे कहां बेचते हैं इस बारे में खुलासा किया। आरोपित कर्मजीत का छोटा भाई गुरजीत सिंह है जो सेना में कार्यरत है और राजस्थान के नसीराबाद कैंट में ड्यूटी है। गुरजीत सिंह का दोस्त का दोस्त पटियाला के गांव लिछकानी निवासी युदवीर सिंह भी सेना में कार्यरत है, जिसकी ड्यूटी गुरजीत के साथ है।

दोनों दसवीं कक्षा में एक साथ पड़े हैं और दोनों की सेना में तीन साल ही नौकरी लगे हुए हैं। इन दोनों के साथ कैंट में राजस्थान के जोधपुर गांव देवनगर बलेसर निवासी कर्णाराम जो सेना में नायब सूबेदार के पद पर कार्यरत है। करणा ने कुछ समय पहले अफीम के धंधे को लेकर इन दोनों सैनिकों से बातचीत की थी। इसके बाद इन सैनिकों ने नायब सूबेदार करणा से अफीम लेकर गुरजीत सिंह के भाई कर्मजीत को दी। कर्मजीत ने इस अफीम को अपने दोस्त रविंद्र पाल और गुरप्रीत के माध्यम से आगे सप्लाई करना था, लेकिन तीनों पुलिस की गिरफ्त में आ गए।

जोधपुर निवासी किसी व्यक्ति से अफीम लेता था नायब सूबेदार

पुलिस पूछताछ में अब तक सामने आया है कि नायब सूबेदार करणा राम जोधपुर का रहने वाला है, इसलिए उसे जानकारी थी की अफीम कौन बेचता है। जोधपुर के किसी व्यक्ति से वह अफीम लेकर आगे बेचता था। पुलिस ने मुख्य आरोपित की तलाश कर रही है। थाना प्रभारी ने बताया कि क्योंकि मामला सेना से जुड़ा हुआ है

इसलिए उन्होंने पहले सेना के अधिकारियों को इस मामले को लेकर जानकारी दी। इसके बाद सेना के अधिकारियों ने जब जांच की तो मामला सही मिलने पर पुलिस को इस बारे में सूचित किया। इसके बाद पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया है।

एसपी लोकेंद्र सिंह ने बताया कि अफीम तस्करी के मामले में आर्मी के नायब सूबेदार सहित तीन सैनिकों को गिरफ्तार किया है। अब तक इस मामले में छह आरोपित गिरफ्तार किए जा चुके हैं। मुख्य आरोपित की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस ने नायब सूबेदार को छह दिनों के पुलिस रिमांड पर लिया है।

Advertisement