नगर निगम ने इन इन वार्डो को जारी किये नये ग्रांट, 6 में से 5 प्रस्तावों पर बनी सहमती

करनाल: निगम हाऊस की तीसरी बैठक मंगलवार को विकास सदन के सभागार में महापौर रेणु बाला गुप्ता की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। दो पार्षदों को छोडक़र शेष सभी पार्षदो के अतिरिक्त निगम आयुक्त राजीव मेहता, उप निगमायुक्त धीरज कुमार, मुख्य अभियंता ठाकुर लाल शर्मा, अधीक्षण अभियंता रमेश मडान और दूसरे अधिकारी भी इसमें उपस्थित रहे। बैठक में 6 प्रस्तावों में से 5 पर सभी पार्षदो की ओर से स्वीकृति की मोहर लगी, जबकि एजेंडा से अलग दो कम्यूनिटी सेंटरो को ठेके पर दिए जाने की बाबत भी पार्षदो से विचार-विमर्श के बाद किराया कितना हो, तय किया गया। राम नगर को शहर से जोडऩे वाले रेलवे फुट ओवर ब्रिज के कार्य से जुड़ी प्रशासकीय स्वीकृति भी आज हाऊस की बैठक में पास हो गई। बता दें कि फुट ओवर ब्रिज के दोनो भाग नगर निगम की ओर से बनाए जाने हैं, जबकि ट्रैक के ऊपर का बीच का भाग रेलवे अपने खर्चे से बनाएगा। नगर निगम की ओर से अपने काम का टैण्डर लगा दिया गया है।

एजेंडे में जिन प्रस्तावो पर आज पार्षदो की सहमति से स्वीकृति की मोहर लगी, उनमें शहर की बीरू कॉलोनी को नियमित करवाने के लिए शहरी स्थानीय निकाय हरियाणा को केस भिजवाया जाएगा। इसी प्रकार नगर सुधार मण्डल जो अब नगर निगम का हिस्सा है, द्वारा अपनी दो योजनाओं में जो प्लॉट बेचे गए थे, उनमें से कुछ प्लाटों की किश्तें उन मालिको द्वारा अभी तक जमा नहीं करवाई गई हैं। हाऊस की बैठक में इस बारे आज निर्णय लिया गया कि ऐसे प्लाटों को निगम जब्त करेगा। इस पर सभी पार्षदो की राय थी कि प्लॉट मालिको के खिलाफ ऐसी कार्रवाई से पहले उन्हें एक मौका देकर उनकी सुनवाई की जाए।

एजेंडे के प्रस्ताव नम्बर-4 में प्रस्ताव महत्वपूर्ण था, जो पानी की बर्बादी को रोकने के लिए था। क्योंकि अभी भी बहुत से लोग इसका अंधाधुंध प्रयोग कर इसे वेस्ट कर रहे हैं। पानी को बचाने के लिए नगर निगम अब उन लोगों पर जुर्माना लगाएगा, जो पाईप लगाकर गाडिय़ां व फर्श इत्यादि धोते हैं। पहली बार पाए जाने वाले व्यक्ति पर एक हजार, दूसरी बार के लिए दो हजार तथा तीसरी बार पांच हजार रूपये का जुर्माना वसूल किया जाएगा, सभी पार्षदो ने इस पर सहमति दे दी। इसके अतिरिक्त एजेंडा का प्रस्ताव नम्बर-5 माल रोड़ करनाल के सौन्दर्यकरण को लेकर था। एजेंडे में कहा गया था कि जेबीडी ग्रुप सौन्दर्यकरण की जिम्मेदारी लेने के लिए तैयार है और सुंदरता के लिए सडक़ के दोनो ओर सुंदर फूल और पौधे लगाए जाएंगे। पौधो की सुंदरता बढ़ाने के लिए बीच-बीच में लाईटें भी लगाई जाएंगी। दूसरी ओर प्रस्ताव नम्बर-6, सैक्टर-9 चौक से बुढ़ाखेड़ा गांव तक सडक़ के सैंट्रल वर्ज के सौन्दर्यकरण के लिए था, इसे पेंडिंग रखा गया है।

एजेंडे से पूर्व बैठक में सभी पार्षदो ने बारी-बारी से अपने-अपने वार्ड की समस्याएं रखी, जो कि सफाई, बंदरो और अवारा कुत्तो की समस्या, पीने के पानी की व्यवस्था, सीवरेज और अमरूत के कार्यों को लेकर थी, जिनके बारे में महापौर और आयुक्त ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि इन सभी समस्याओं का तुरंत समाधान किया जाए और इसकी जानकारी दी जाए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल जी भी चाहते हैं कि करनाल शहर का विकास जन प्रतिनिधियों और जनता के अनुरूप तथा अधिकारियों के सहयोग से होना चाहिए, इसे जल्दी पूरा करवाया जाए।

हाऊस की बैठक के समापन पर महापौर ने अपने उद्बोधन पर कहा कि शहर में जितने भी विकास कार्य होने हैं, वह सभी पार्षदों और अधिकारियों के समन्वय से करवाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सोच है कि करनाल में सभी विकास कार्य जनता की आशाओं के अनुरूप हों और अगले पांच साल में करनाल प्रदेश के लिए एक मिसाल बने।

Advertisement