नगर निगम इंजीनियरिंग विंग होगा पहले से मजबूत, जूनियर इंजीनियरों को बेहतर काम करने के लिए दिए टिप्स

इंडिया ब्रेकिंग/करनाल रिपोर्टर (ब्यूरो)करनाल 31 अक्तूबर,  नगर निगम की ओर से करवाए जाने वाले विकास कार्यों में क्वालिटी व वर्कमैनशिप को और बेहतर बनाने के लिए निगम आयुक्त विक्रम के निर्देश पर शनिवार को डॉ. मंगलसेन ऑडिटोरियम में निगम के नए कनिष्ठ अभियंताओं को प्रशिक्षण दिया गया। नए जेई को अनुभवी इंजीनियरों के द्वारा प्रशिक्षण दिया गया। इस कार्यक्रम में निगम के लक्ष्य, लक्की पंवार, दीपक कुमार, गौरव, गुरजीत सिंह, कृष्ण कुमार व मोहित कुमार जेई ने सिविल वर्क की बारिकियां और मजबूती के टिप्स लिए।

करीब अढ़ाई घण्टे तक चली ट्रेनिंग में निगम आयुक्त विक्रम ने भी शिरकत की, जबकि निगम इंजीनिय लक्ष्मी चंद राघव व सुनील भल्ला ने सभी जेई को प्रशिक्षण की बातें बताई। इस मौके पर कार्यकारी अभियंता अक्षय भारद्वाज, सतीश शर्मा व मोनिका शर्मा भी उपस्थित रही।

क्या हुआ ट्रेनिंग में- इस ट्रेनिंग में सरकार की ओर से बनाए गए वर्क मैनेजमेंट सिस्टम (डब्ल्यू.एम.एस.) पोर्टल पर एस्टीमेट कैसे बनाने हैं, इस बारे प्रैक्टिकल तरीके से समझाया गया। गौर हो कि सरकार के निर्देशानुसार अब नगर निगमो में विकास कार्यों के एस्टीमेट मैन्यूअल नहीं होंगे। डब्ल्यू.एम.एस. पोर्टल पर ऑनलाईन अपलोड किए जाएंगे। एस्टीमेट का नया तरीका कुछ समय पहले लागू किया गया था।


निगम आयुक्त विक्रम ने सभी जेई को सम्बोधित कर उन्हें हर काम को सफल बनाने के जरूरी टिप्स दिए। उन्होंने कहा कि क्वालिटी और वर्कमैनशिप के साथ-साथ हर काम समयावधि में पूरा होना चाहिए। सभी कार्य स्फैसिफिकेशन के अनुसार करवाए जाएं और मेज़रमेंट बुक यानि एम.बी. को समय पर और सही-सही भरें। काम की समाप्ति के एक सप्ताह के अंदर ही सम्बंधित जेई की ओर से बिल तैयार कर दिया जाए, ताकि समय पर उसकी पेमेंट सम्भव हो सके।

किसी के प्रैशर में आकर काम ना करें। उन्होंने कहा कि नौकरी के शुरू के वर्ष किसी भी इंजीनियर के लिए कैरीयर को लेकर महत्वपूर्ण होते हैं, पूरी निष्ठा, लगन और समझ से काम करें। किसी भी तरह की कठिनाई आने पर वरिष्ठ इंजीनियरों से पूछ लें। सबसे महत्वपूर्ण है ईमानदारी रखें, ताकि आप लोगों के साथ-साथ निगम की भी छवि बनी रहे। विकास कार्य जनता को सुविधा देने के लिए होते हैं, उनमें अच्छा मैटिरियल प्रयुक्त होना चाहिए, इसमें किसी प्रकार का समझौता स्वीकार्य नहीं।

निगमायुक्त ने सभी जेई के कार्य और भविष्य को लेकर शुभकामनाएं दी और कहा कि आप विकास कार्यों की रीड़ हैं। जनता का भरौसा कायम रखें।

Advertisement