माँ बनी हतियारन! बेटे की चाह में मां ने एक महीने की बच्ची को सेप्टिक टैंक में फेंका

पंजाब के फरीदकोट में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. एक महिला ने बेटे की चाह में अपने एक महीने की मासूम बच्ची को सेप्टिक टैंक में फेंककर उसकी जान ले ली. यह घटना कलेर गांव की है.

पंजाब के कलेर गाँव में एक महिला ने अपनी एक महीने की बच्ची को कथित तौर पर एक ईंट भट्टे के शौचालय के सेप्टिक टैंक में फेंक दिया. मामले की जांच कर रहे फरीदकोट के डीएसपी सतविंदर सिंह विर्क ने बताया की बच्चे के माता-पिता यूपी के हैं और पिछले कई सालों से ईंट भट्टे पर काम कर रहे हैं.

वहीं मामला तब सामने आया जब बच्ची के पिता संजू ने अपने सहकर्मियों को बताया कि उसकी नवजात बच्ची लापता हो गई है. पिता ने अपने सहकर्मियों के साथ बच्ची को ढूंढना शुरू किया. काफी देर के मेहनत के बाद एक मजदूर ने पाया की शौचालय के सेप्टिक टैंक में एक बच्ची की लाश है. मजदूर ने बच्ची की लाश देख शोर मचाया तो भीड़ इक्ट्ठा हो गई और खुलासा हुआ कि ये बच्ची संजू की ही है.

बेटा होने की थी उम्मीद

मौके पर मौजूद मजदूरों ने बताया कि काफी तलाश करने के बाद भी जब बच्ची नहीं मिली तो उन्होंने फ्लश में देखा. जब फ्लश के स्लैब को उखाड़ कर देखा तो बच्ची उसके अंदर थी. उसे सरिए की मदद से निकाला गया लेकिन तब तक बच्ची की मौत हो चुकी थी.

पुलिस के द्वारा की गई जांच से पता चला है कि दंपति के तीन बच्चे थे दो बेटियाँ और एक बेटा. अब माँ को दूसरे बेटे के जन्म की उम्मीद थी, लेकिन बेटी के जन्म लेने से वो दुखी थी. यही वजह थी कि उसने अपनी एक महीने की बेटी को सेप्टिक टैंक में फेंक दिया. हालांकि पुलिस ने लड़की की मां साइना (29) को उसके खिलाफ मामला दर्ज करने के बाद गिरफ्तार कर लिया है.

Advertisement