देवर के साथ भागी दो बच्चों की मां, चार दिन बाद घर लौटी महिला का जवाब सुन सभी हैरान

कहा जाता है कि प्यार के चक्कर में पड़कर इंसान सबकुछ भूल जाता है। प्यार हो जाने पर इंसान अपने सपनों को किसी और की सोच के साथ साझा करने लगता है। प्यार में पड़कर इंसान इस कदर अंधा हो जाता है कि वह अपने अतीत को भी भूल जाता है। रिश्ते-नाते को दरकिनार कर कुछ लोग अपने प्यार के साथ जीवन की माला पिरोते हैं। प्यार की खातिर कुछ लोग अपने बच्चों तक की कुर्बानी देने से नहीं चूकते। कुछ ऐसा ही मामला बिहार से सामने आया है। दो बच्चों की मां को एक युवक से प्यार हो गया। इसके बाद महिला ने अपनी आगे की जिंदगी उसके नाम कर दी। युवक के प्यार में डूबी महिला दिन रात उसी के सपनों में खोए रहने लगी और एक दिन वह अपने प्यार के साथ बच्चों को छोड़कर घर से भाग गई।

मामला भागलपुर जिले के इशाकचक थाना क्षेत्र का है। यहां की महिला युवक को दिल दे बैठी। महिला दो बच्चों की मां भी है। बताते हैं कि जिस युवक से महिला को प्यार हुआ वह उसका रिश्ते में देवर लगता है। जानकारी के अनुसार युवक रिश्तेदार होने की वजह से आए दिन महिला के घर आता जाता रहता था। एक दिन दो बच्चों की मां और युवक को आपस में प्यार हो गया। दोनों ने एक-दूसरे के साथ जीने मरने की कसमें खाईं। दोनों के प्यार की भनक जब परिवार वालों को लगी तो इसका विरोध किया। इसके बाद युवक का महिला के घर आना बंद हो गया।

अपने प्यार से जुदा हो रही महिला को यह सब बर्दाश्त नहीं हुआ। एक दिन महिला ने देवर के साथ मिलकर घर से भागने की योजना बना डाली। इसके बाद दो बच्चों को छोड़कर महिला घर से देवर संग भाग गई। परिजनों ने महिला की खोजबीन के लिए पुलिस को तहरीर दी।

चार दिन बाद अचानक प्रेमी संग घर लौटी महिला ने देवर के साथ रहने की इच्छा जताई तो सभी हैरान रह गए। परिजन बच्चों की दुहाई देकर महिला को मनाने में लगे थे, लेकिन प्यार के आगे अंधी महिला को कुछ और मंजूर नहीं था। यहां दोनों पक्षों को पुलिस के सामने पेश किया गया। दोनों पक्षों से पुलिस ने लिखित तहरीर ली है। महिला प्रेमी संग रहने की जिद पर अड़ी थी। मामले के निपटारे के लिए पुलिस ने महिला हेल्पलाइन से काउंसलर को बुलाया है।

Advertisement