मंत्री के बेटे ने दी धमकी, कॉन्स्टेबल का जवाब- तेरे बाप की गुलामी के लिए नहीं पहनी वर्दी

Advertisement

------------- Advertisement -----------

गुजरात की महिला कॉन्स्टेबल सुनीता यादव के समर्थन में सोशल मीडिया पर लोग आवाज उठा रहे हैं. लोगों का कहना है कि निष्ठा से कर्तव्य करने वाली इस बहादुर पुलिसकर्मी का सम्मान करने की जगह उस पर कार्रवाई हो रही है. गुजरात सरकार की आलोचना हो रही है.

बता दें कि सूरत के वराछा में स्वास्थ्य राज्यमंत्री कुमार कानाणी के बेटे और महिला कॉन्स्टेबल सुनीता यादव के  बीच कर्फ्यू प्रोटोकॉल के उल्लंघन को लेकर विवाद हो गया. इस दौरान महिला कॉन्स्टेबल का एक वीडियो वायरल है,, जिसमें वह मंत्री के बेटे प्रकाश को लेकर बात कर रही हैं. महिला कान्स्टेबल ने मौके पर सबकी जमकर क्लास लगाई है.

Advertisement

बताया जा रहा है कि रात 10 बजे कॉन्स्टेबल सुनीता यादव गश्त पर थीं. इसी दौरान 5 युवक बिना मास्क लगाए एमएलए लिखी कार पर घूम रहे थे. सुनीता ने उन्हें रोक लिया. ऐसे में युवकों ने मौके पर मंत्री के बेटे प्रकाश को बुला लिया. इसके बाद सुनीता यादव ने प्रकाश की भी जमकर क्लास लगाई.

ऐसे में प्रकाश ने मंत्री कुमार कानाणी को फोन कर दिया. इस पर मंत्री ने सुनीता यादव को फोन किया. इस पर दोनों में बहस हो गई. इस बीच मंत्री के बेटे प्रकाश ने सुनीता को 365 दिन सड़क पर खड़े रहने की ड्यूटी लगवा देने की धमकी देने लगा

धमकी सुनकर सुनीता ने जवाब दिया. उन्होंने कहा, पुलिस की वर्दी तुम्हारे बाप की गुलामी कराने के लिए नहीं पहनी हूं. औकात हो तो करवा देना मेरा ट्रांसफर गांधीनगर. बताया जा रहा है कि सुनीता ने वरिष्ठ पुलिस अफसरों के सामने इस्तीफे की पेशकश की है और वे घर चली गई हैं. हालांकि, उनकी इस्तीफा मंजरू नहीं किया गया है.

Advertisement