मछुआरे को मिला ‘तैरता सोना’, सिर्फ उल्टी से बना करोड़पति!

थाइलैंड के एक मछुआरे को एक अजीबो-गरीब खजाना मिला है। दरअसल, उन्हें समुद्र में वेल मछली की उल्टी (Ambergris) मिली है जिसकी कीमत 2 करोड़ रुपये से ज्यादा हो सकती है। Ambergris को समुद्र का खजाना माना जाता है और इसे सोने से कम नहीं आंका जाता।

दरअसल, इसमें एक बिना गंध का ऐल्कोहॉल मौजूद होता है जिसका इस्तेमाल परफ्यूम की गंध को लंबे वक्त तक बरकरार रखने के लिए किया जाता है।

फाइल फोटो

तट पर दिखा टुकड़ा

यह सात किलो का टुकड़ा चलेरम्चई महापन को सॉन्गख्ला प्रांत के समीला तट पर मिला। उन्होंने बताया कि वह समुद्र में जाल डालने जा रहे थे लेकिन मौसम बदलने पर उन्हें वापस आना पड़ा। जब वह अपनी नाव को किनारे पर लगाने लगे तो उन्हें यह टुकड़ा दिखा।

पहले उन्हें लगा कि यह आम चट्टान है लेकिन फिर गौर से देखने पर महसूस हुआ कि इसमें कुछ खास हो सकता है। उन्होंने बताया, ‘मुझे तब तक नहीं पता था कि यह क्या है जब तक गांव के बड़े-बुजुर्गों ने मुझे नहीं बताया कि यह वेल की उल्टी है।’

इसे जलाने पर जब यह पिघली तो यह साफ हो गया कि चलेरम्चाई के हाथ बहुमूल्य खजाना लगा था। लैब में भेजने के बाद इसकी पुष्टि भी हो गई। अब चलेरम्चाई को इंतजार है इसकी कीमत मिलने का जो 24.5 पाउंड प्रति किलो हो सकती है। उनका कहना है कि उन्हें इसे बेचने की जल्दी नहीं है और एक एजेंट इसके लिए अंतरराष्ट्रीय खरीददार लाएगा।

क्यों है इतनी कीमत?

के शरीर के अंदर एक खास तत्व निकलता है। कुछ थिअरीज के मुताबिक इसकी मदद से स्पर्म वेल अपने खाने को पिघला पाती है, वहीं कुछ का दावा है कि यह वेल के मल में मौजूद होता है। Ambergris ठोस, मोम जैसा ज्वलनशील तत्व होता है। यह हल्के ग्रे या काले रंग का होता है।

इसका इस्तेमाल परफ्यूम इंडस्ट्री में किया जाता है। इसमें मौजूद ऐल्कोहॉल का इस्तेमाल महंगे ब्रैंड परफ्यूम बनाने में करते हैं। इसकी मदद से परफ्यूम की गंध लंबे वक्त तक बरकरार रखी जा सकती है।

इस वजह से इसकी कीमत बेहद ज्यादा होती है। यहां तक कि वैज्ञानिकों ने इसे तैरता हुआ सोना भी कहा है।

 

Advertisement