हरियाणा: MBBS थर्ड ईयर की छात्रा ने की आत्महत्या की कोशिश, अस्पताल की छत से लगाई छलांग, ये थी वजह

हिसार. हिसार जिल के अग्रोहा मेडिकल कॉलेज (Agroha Medical College) की MBBS थर्ड ईयर की छात्रा ने जान देने की कोशिश (Suicide Attempt)  की है. छात्रा अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में दो सीनियर छात्राओं द्वारा की जा रही अश्लील रैगिंग से परेशान थी और इसी परेशानी के कारण उसने बीते मगलवार को आत्महत्या का प्रयास किया. कहा जा रहा है कि छात्रा ने जिंदल अस्पताल (Jindal Hospital) में पहली मंजिल की खिड़की से छलांग लगा दी.

घटना में छात्रा को काफी चोटें आई हैं. अर्बन इस्टेट थाना पुलिस ने इस मामले में पीड़ित छात्रा की शिकायत पर अग्रोहा मेडिकल कॉलेज की MBBS छात्रा दिव्यांशी रनियाल व दीपिका सिकरीवाल के खिलाफ आईपीसी 354, 499, 506, 34 व एंटी रैगिंग एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है. पुलिस इस मामले में अभी जांच की बात कह रही है.

छात्रा ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसने 2018 में  MBBS कोर्स में अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में दाखिला लिया था. यहां पर पहले ही 2017 बैच का सैकिंड इयर चल रहा था, जिसमें से दो लड़कियों ने दाखिले के 15 दिन बाद ही उसे रैगिंग के नाम पर परेशान करना शुरू कर दिया. छात्रा के अनुसार उसकी दो सीनियर दिव्याशी व दीपिका रात को जबरदस्ती उसे हॉस्टल की छत पर लेकर जाती थीं और उसके सारे कपड़े उतरवाकर उसके साथ अश्लील तरीके से छेड़छाड़ करती थीं. छात्रा के अनुसार उसने इस बात की मौखिक शिकायत वार्डन को भी की थी लेकिन इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई. जिस कारण  इनको हौंसले और ज्यादा बढ़ गए.

छात्राओं को व्हाट्सअप पर मैसेज भेजा गया था

इसके बाद उसके साथ इस तरह की हरकतें हर सप्ताह होनी शुरू हो गईं. छात्रा के अनुसार दोनों ने उसको धमकी दी कि अगर तुने अपने घर वालों को बुलाया तो तेरे को हम होस्टल की छत से गिराकर जान से मार देंगे और तुझे कोर्स में भी फेल करवा सकते हैं. इसके अलावा इन लड़कियों ने हॉस्टल की अन्य छात्राओं को भी धमकी दे रखी है. ऐसे में इन दोनों से सभी छात्राएं डरती हैं. दोनों ने सभी से कहा था कि यदि कोई भी उससे बात करती है तो उनके साथ भी ऐसा ही व्यवहार किया जाएगा. इस बारे में दोनों लड़कियों की तरफ से सब छात्राओं को व्हाट्सअप पर मैसेज भेजा गया था.

उन्होंने इन छात्राओं को समझाया भी था

पीड़ित छात्रा के अनुसार, 2019 में उसने इस तरह की घटनाओं के बारे में डॉ. महेश को बताया था तब उन्होंने इन छात्राओं को समझाया भी था. लेकिन इनकी हरकतों में कोई सुधार नहीं हुआ. पीड़िता के अनुसार 19 अक्टूबर 2021 को वह जिंदल अस्पताल में डॉ. महेश को दोबारा से अपनी परेशानियां बताने के लिए गई थीं.

वहां पर डॉ. महेश ने उनको बताया कि दोनों लड़कियों ने उसके बारे में बहुत कुछ गलत बोला हुआ है. पिछले तीन साल से लगतार हो रहे टॉर्चर व अपनी बदनामी के कारण परेशानी में उसने जिंदल अस्पताल की खिड़की से छलांग लगा दी. पीड़ित छात्रा की मां ने बताया कि दोनों लड़कियों द्वारा उसकी बेटी से हॉस्टल में शराब मंगवाई जाती थी व उसको जबरदस्ती पिलाने की कोशिश भी की गई थी जिस बारे में उसने वार्डन को शिकायत भी की थी.

उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी

कॉलेज की छात्रा के साथ हुई इतनी बड़ी गंभीर घटना के बारे में अग्रोहा मेडिकल कॉलेज डायरेक्टर डॉ. अलका छाबड़ा ने बताया कि उन्होने इस मामले की जांच के लिए 3 सदस्यीय उच्च स्तरीय कमेटी बना दी है जो तीन दिन में अपनी रिपोर्ट देगी. उसके बाद जो भी दोषी पाया जाएगा उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी.

Advertisement