ASI, हैड कांस्टेबल और होमगार्ड ने थाने में सारी रात महिला को बनाया हवस का शिकार…

लुधियाना: चौकी मुंडियां में महिला से हुए दुष्कर्म के मामले में पुलिस कमिश्नर राकेश अग्रवाल द्वारा सख्त कदम उठाए जा रहे हैं। कमिश्नर द्वारा जहां एफ.आई.आर. दर्ज कर हैड कांस्टेबल राकेश कुमार सहित ए.एस.आई. सुखविंद्र सिंह और होमगार्ड जवान हरिंद्र सिंह को सस्पैंड किया गया है, वहीं चौकी इंचार्ज ए.एस.आई. बलदेव सिंह व एक अन्य ए.एस.आई. सुरजन सिंह को लाइन हाजिर किया गया है।

पुलिस कमिश्नर अग्रवाल ने बताया कि मंगलवार को चौकी में नया स्टाफ तैनात किया जा रहा है। फिलहाल नामजद हैड कांस्टेबल पर कार्रवाई करने के अलावा उस रात मौजूद सभी चौकी के मुलाजिमों पर एक्शन लिया गया है।

चौकी में 2 महिला मुलाजिम लेकिन नहीं बुलाया

पुलिस कमिश्नर अग्रवाल के अनुसार चौकी मुंडियां में 2 महिला मुलाजिम हैं लेकिन रात को महिला को चौकी लाने पर भी चौकी इंचार्ज ने दोनों में से किसी को ड्यूटी पर नहीं बुलाया। इसके अलावा पूरे मामले से किसी उच्चाधिकारी को अवगत नहीं करवाया जो बड़ी लापरवाही है, इसी के चलते उसे सस्पैंड किया गया है।

थाने में शिकायत लेकर आने वालों से पुलिस लेगी फीडबैक

कमिश्नर राकेश अग्रवाल ने बताया कि इस वर्ष थानों में शिकायत लेकर आने वालों से ऑफिसरों द्वार फीडबैक लेने पर विचार किया जा रहा है। कमिश्नर के अनुसार पैरामीटर तैयार किए जा रहे हैं, उस पर हर थाने में शिकायत लेने आने वालों की कुछ समय बाद वोटिंग करवाएंगे जिससे पुलिसिंग को और बढिय़ा करने में मदद मिलेगी ।

मारपीट के 4 आरोपियों पर भी केस दर्ज

लुधियाना: थाना जमालपुर के अधीन आती चौकी मुंडियां कलां में हवलदार द्वारा लड़ाई-झगड़े के मामले में मारपीट का शिकार हुई पीड़ित महिला को हवस का शिकार बनाने के मामले में पुलिस कमिश्नर के हुक्मों के बाद हवलदार के अलावा मारपीट करने वाले 4 अन्य लोगों के खिलाफ भी मुकद्दमा दर्ज किया गया है।

थानेदार जतिन्द्र कुमार ने बताया कि शिकायतकर्त्ता सीमा पुत्री सुच्चा राम के बयानों पर पम्मी पत्नी मेवा, पूजा बेटी मेवा सिंह, बिन्द्र पुत्र मेवा सिंह वासी टिब्बा कालोनी मुंडियां खुर्द, ममता पत्नी निक्का वासी परमजीत कालोनी व हवलदार राकेश कुमार के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज कर लिया गया है।

चौकी इंचार्ज व थानेदार को सजा, थाना प्रभारी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं

इस पूरे मामले में जिला पुलिस ने अपनी खाल बचाने के लिए आरोपी हवलदार, चौकी इंचार्ज व एक थानेदार के खिलाफ कार्रवाई करके ही खानापूर्ति कर ली। इस मामले में पूरी कड़ी के मुख्य सूत्रधार थाना प्रभारी के खिलाफ कोई कार्रवाई न होना सबसे बड़ा सवाल है जिसका जवाब किसी के पास नहीं है।

Advertisement