गेंहू की खरीददारी के मामले में करनाल प्रदेश में प्रथम: डीसी निशांत कुमार

इंडिया ब्रेकिंग/करनाल रिपोर्टर (ब्यूरो) इंद्री, 20 अप्रैल उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने कहा कि जिले में 40 प्रतिशत गेंहू की आवक मंडियों व परचेज सेंटर पर हो चुकी है, आने वाली 30 अप्रैल तक जिले की अधिक्तर गेंहू मंडियों में पहुंच जाएगी। प्रदेश की एक चौथाई करीब 25 लाख क्विंटल गेंहू की खरीद करके जिला करनाल खरीद के मामले में प्रथम पायदान पर है। जिले के सभी परचेज सेंटरों व मंडियों में गेंहू की खरीद का काम जोरों पर चल रहा है। सभी मंडियों में व्यापक प्रबंध किए गए है। किसी भी प्रकार की किसान, आढ़ती व मजदूरों को दिक्कत नहीं आने दी जाएगी।उपायुक्त शुक्रवार को इंद्री की अनाज मंडी में गेंहू खरीद की व्यवस्था की जानकारी लेने के लिए पहुंचे। उन्होंने किसानों, मजदूरों और आढ़तियों व खरीद एजेंसियों के प्रतिनिधि से बातचीत की। उन्होंने मार्किट कमेटी के सचिव को निर्देश दिए कि गेंहू खरीद में किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं आनी चाहिए। मंडी में आने वाले हर किसान व मजदूर के पास मास्क होना चाहिए। लॉकडाउन के तहत सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा जाए। उन्होंने किसानों से कहा कि अब 200 किसानों को मंडियों में गेंहू बेचने के लिए बुलाया जा रहा है, इसकी सभी तैयारियां पूरी की गई है। उन्होंने खरीद एजेंसियों के प्रतिनिधियों से कहा कि तुरंत गेंहू का उठान सुनिश्चित करें। मंडी में भीड़ ना हो ताकि अगले दिन गेंहू डालने के लिए खाली जगह बच सके।उन्होंने कहा कि जो किसान अपने नम्बर पर किसी कारण से नहीं आ सका, तो उसके लिए रविवार का दिन निर्धारित किया जाए ताकि वह अपनी फसल बेच सके। उन्होंने किसानों को आश्वासन दिलाया कि किसी भी किसान की फसल बिना बिके नहीं रहेगी। हर किसान का दाना-दाना खरीदा जाएगा, इसकी व्यवस्था सरकार और जिला प्रशासन द्वारा की गई है। किसी को घबराने की जरूरत नहीं है। उन्होंने किसानों को बताया कि लॉक डाउन के कारण मजदूरों की कमी के कारण कुछ खरीद में देरी हो सकती है, परन्तु समय रहते सभी की फसल खरीदी जाएगी। इस मौके पर एसडीएम इंद्री सुमित सिहाग भी उपस्थित रहे।यूपी की तरफ से गेंहू ना आने पाए, उपायुक्त ने बॉर्डर पर जाकर दिए आवश्यक निर्देश।

उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने शेरगढ़ टापू स्थित यूपी के बार्डर पर जाकर स्थिति का जायजा लिया और वहां पर डयूटी दे रहे अधिकारियों से जानकारी ली और उन्हें निर्देश दिए कि किसी भी कीमत पर यूपी की तरफ से जिले में गेंहू नहीं आनी चाहिए। जिन किसानों की भूमि यूपी में है, बाद में उनकी फसल भी खरीदने की योजना बनाई जाएगी। पहले जिले में लगती किसानों की फसल खरीदी जाएगी।

डीसी ने राधा स्वामी सत्संग भवन स्थित शैल्टर होम में जाकर प्रवासियों को किया आश्वस्त।

उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने इंद्री स्थित राधा स्वामी सत्संग भवन में चल रहे शैल्टर होम का मुआयना किया और प्रवासियों को आश्वासन दिलाया कि उन्हें चिंता करने की जरूरत नहीं। जब तक लॉकडाउन है, आराम से रहे। उनके खाने-पीने व रहने तथा स्वास्थ्य की सभी सुविधाएं मुहैया करवाई जा रही है। जब भी लॉकडाउन खत्म होगा, सभी को उनके स्थानों पर भेज दिया जाएगा। बतां दे यहा पर 74 प्रवासी रह रहे है। इन्हें समय पर भोजन व्यवस्था, दवाई उपलब्ध करवाई जाती है तथा मनोरंजन के साथ-साथ प्रतिदिन योगा भी करवाया जाता है।

Advertisement