15 दिसंबर तक पूरा होगा करनाल नगर निगम का कार्य, जनवरी 2021 में सेंटर होगा लाइव : DC निशांत यादव

इंडिया ब्रेकिंग/करनाल रिपोर्टर (ब्यूरो) करनाल 2 अक्तूबर, स्मार्ट सिटी से जुड़े प्रोजेक्ट में से एक महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट इंटाग्रेटिड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर (आई.सी.सी.सी.) की कम्पलीशन का कार्य नववर्ष 2021 यानि आगामी जनवरी के आगमन पर लाईव होगा। इस तरह के संकेत उपायुक्त एवं करनाल स्मार्ट सिटी के सीईओ निशांत कुमार यादव ने शुक्रवार को आई.सी.सी.सी. का दौरा करने के बाद दिए। निर्माणाधीन सेंटर शहर के सैक्टर-12 में बने नगर निगम के नए भवन के द्वितीय तल पर स्थापित किया जा रहा है।

क्या-क्या हो रहा आई.सी.सी.सी. में- इस बारे सीईओ ने बताया कि सिविल वर्क का कार्य लगभग पूरा हो गया है, तो दूसरी ओर फाल सिलिंग और उसमें एयर कंडीशनिंग, फ्लोरिंग, शौचालयों का निर्माण, इलैक्ट्रिकल के कार्य, डाटा कॉलैक्शन कक्ष, कॉन्फ्रैंस रूम स्थापित करने का काम बड़ी तेजी से हो रहा है, जिसके दिसम्बर तक कम्पलीट होने की प्रबल उम्मीद है। बिजली कनैक्शन के लिए केबल लगा दी गई है और अगले सप्ताह में ही भवन के नीचे परिसर में विद्युत ट्रांसफार्मर इंस्टाल हो जाएगा।

बिजली का विकल्प 250 केवी का जेनरेटर सेट भी खरीद लिया गया है, उसे भी नीचे ही लगाया जाएगा। उन्होंने बताया कि आई.सी.सी.सी. के लिए हार्डवेयर की डिलीवरी प्रारम्भ हो गई है, जिसमें यू.पी.एस. और नेटवर्किंग के लिए रूटर्स जैसे उपकरण आ रहे हैं। कम्पलीशन के समय डिजाईन के अनुसार फर्नीचर की सेटिंग की जाएगी और इस तरह से नववर्ष में आई.सी.सी.सी. का काम पूरा हो सकेगा।

पर्ट चार्ट के अनुसार हो रहे सभी कार्य- करीब साढे 4 हजार वर्गफुट एरिया में तैयार हो रहे आई.सी.सी.सी. में सभी कार्य पर्ट चार्ट के अनुसार किए जा रहे हैं। इसमें खास बात यह है कि कोन सा कार्य कब शुरू हो गया है और कब होगा पूर्ण, यह सब पर्ट चार्ट में दर्शाया जाएगा। इस तरह से काम की प्रगति का सहज ही अनुमान लगाया जा सकता है। निर्माण एजेंसी की ओर से प्रोजेक्ट हैड विकास शर्मा और नगर निगम की ओर से कार्यकारी अभियंता सतीश शर्मा की देखरेख में कार्यों को लेकर अंतिम रूप दिया जा रहा है।

सीईओ निशांत कुमार यादव ने बताया कि निर्माण कर रही एजेंसी को अब सख्त निर्देश दे दिए गए हैं, जिसमें स्पष्ट किया गया है कि 15 दिसम्बर तक सभी कार्य पूरे होने चाहिएं और 31 जनवरी तक आई.सी.सी.सी. का काम लाईव हो जाए। उन्होंने बताया कि शहर में 29 जंक्शन पर सी.सी.टी.वी. कैमरे लगाने का काम भी तेजी से चल रहा है। कैमरो में कैप्चर की जाने वाली सभी तरह की घटनाओं का डाटा आई.सी.सी.सी. आएगा, जिससे घटनाओं पर काबू पाना और शिकायतों के त्वरित समाधान करने में मदद मिलेगी।

Advertisement