क्या बंद होने जा रहा 2000 रुपए का नोट, सरकार ने लोकसभा में बताई सच्चाई

दो हजार रुपए के नोट को लेकर तरह तरह की चर्चाएं होती रहती हैं। कभी कहा जाता है कि सरकार इस नोट को बंद करने जा रही है, तो कभी खबर आती है कि सरकार ने 2000 रुपए के नोट की छपाई बंद कर दी है। बहरहाल, अब सरकार ने इस मुद्दे पर आधिकारिकतौर पर अपना पक्ष रख दिया है। लोकसभा में एक सवाल के जवाब में दिए गए लिखित उत्तर में बताया गया है कि अभी 2000 रुपए का नोट बंद करने को लेकर कोई विचार नहीं हो रहा है। हालांकि सरकार ने यह बात जरूर मानी कि इस नोट की छपाई कम कर दी गई है।

लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि सरकार किसी भी नोट की छपाई की मात्रा के बारे में भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) से परामर्श के बाद ही फैसला लेती है, ताकि जनता की लेन-देन की मांग को सुविधाजनक बनाया जा सके।

उन्होंने कहा, वर्ष 2019-20 और 2020-21 के दौरान 2000 रुपए के नोटों की छपाई के लिए किसी भी नोट प्रेस को अलग से निर्देश नहीं दिए गए हैं। सरकार ने 2,000 रुपए के बैंक नोटों की छपाई बंद करने का कोई निर्णय नहीं लिया है।

31 मार्च 2020 तक 2,000 रुपए के कुल 273.98 करोड़ प्रचलन में थे, जबकि 31 मार्च 2019 तक इनकी संख्या 329.10 करोड़ थी। विभिन्न मूल्यवर्ग के नोटों की मुद्रण प्रक्रिया पर कोरोना महामारी के प्रभाव के बारे में अनुराग ठाकुर ने कहा कि आरबीआई से मिली जानाकारी के अनुसार राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के कारण नोटों की छपाई पर असर पड़ा है।नोट छापने का काम केंद्रीय और राज्य सरकारों द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार चरणबद्ध तरीके से फिर से शुरू किया जा रहा है।

आरबीआई की रिपोर्ट के अनुसार, प्रचलन में कुल मुद्राओं में 2,000 के नोट का हिस्सा मार्च, 2020 के अंत तक घटकर 2.4 प्रतिशत रह गया। यह मार्च, 2019 के अंत तक तीन प्रतिशत तथा मार्च, 2018 के अंत तक 3.3 प्रतिशत था।

Advertisement