ब्याज माफी योजना खत्म, टैक्स ना देने वालों को नोटिस होंगे जारी

पानीपत/कैथल। शहरी स्थानीय निकाय विभाग की ओर से बकाया प्रॉपर्टी टैक्स पर ब्याज माफी योजना चलाई हुई थी, जो 31 दिसंबर को खत्म हो चुकी है। अब तक नगर परिषद इंतजार कर रही थी कि लोग इस योजना का लाभ उठाएंगे। एक जनवरी से लोगों को बिना किसी छूट के टैक्स जमा करवाना होगा। जिन लोगों ने बकाया टैक्स नहीं भरा है उनके खिलाफ अगले सप्ताह से कार्रवाई शुरू की जा रही है। टैक्स ना देने वाले सरकारी विभागों और प्राइवेट प्रॉपर्टी मालिकों की सूची तैयार की जा चुकी है। इन सभी को नप की ओर से नोटिस जारी किए जाएंगे।

नप को उम्मीद थी कि इस योजना के तहत बकाया टैक्स जमा हो जाएगा, लेकिन अब भी करीब पांच करोड़ रुपये टैक्स बकाया है। नोटिस देने के लिए नप सुपरिटेंडेंट पवन कुमार की अध्यक्षता में टीमों का गठन किया जा रहा है। टीम के सदस्य घर-घर जाकर नोटिस देंगे। नोटिस के बाद भी टैक्स ना देने वालों के खिलाफ कोर्ट में केस किया जाएगा। हालांकि नप को पिछले पांच महीनों में करीब 94 लाख रुपये की आमदनी हो गई है। ब्याज माफी योजना के अंतिम दिन भी करीब तीन लाख रुपये जमा हुए हैं।

यह थी ब्याज माफी योजना

बकाया टैक्स जमा करवाने के लिए ब्याज माफी योजना शुरू की गई थी। मई में यह योजना शुरू हुई थी, जिसे 31 दिसंबर तक बढ़ा दिया गया था। योजना के तहत वर्ष 2010-11 से वर्ष 2019-20 तक के बकाया पर समस्त ब्याज माफी की छूट दी गई थी। संपत्ति मालिक जो वर्ष 2010-11 से 2016-17 का बकाया टैक्स आगामी 31 दिसंबर 2020 तक जमा करवाते, उन्हें इस अवधि के प्रॉपर्टी टैक्स में भी 25 प्रतिशत की छूट दी गई है।

नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी अशोक कुमार ने बताया कि बकाया ब्याज माफी पर छूट की योजना खत्म हो चुकी है। जिन्होंने टैक्स नहीं भरा है उन्हें नप की ओर से नोटिस जारी किए जाएंगे।

Advertisement