भारतीय रेलवे ने दिया चीन को बड़ा झटका। ये बड़ा टेंडर किया रद्द

Advertisement

------------- Advertisement -----------

नई दिल्ली । भारत और चीन के बीच चल रहे तनाव के चलते भारत, चीन को आर्थिक तौर पर झटका दे रहा है। अब रेलवे ने शुक्रवार को चीनी कंपनी के साथ 471 करोड़ रुपए का करार खत्म कर दिया है। चीनी कंपनी बीजिंग नेशनल रेलवे रिसर्च एंड डिजाइन इंस्टीट्यूट ऑफ सिग्नल एंड कम्युनिकेशन ग्रुप कंपनी लिमिटेड को 2016 में कानपुर और मुगलसराय के बीच 417 किलोमीटर लंबी रेल खंड पर ठेका दिया गया था जो अब उससे वापस ले लिया गया।

ईस्टर्न डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर में धीमी गति के कारण कंपनी ने पिछले महीने इस ठेके को रद्द करने का निर्णय जिसे लेकर टर्मिनेशन लेटर शुक्रवार को जारी कर दिया गया।

Advertisement

विश्व बैंक को दी गई जानकारी

इस योजना को लेकर ईस्टर्न डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड के प्रबंधन निदेशक अनुराग सचान का कहना है कि चीनी कंपनी को 14 दिन का नोटिस जारी किया गया था और अब उसे टर्मिनेशन लेटर दिया गया है।

बता दे कि कंपनी को 2019 तक इस योजना का काम पूरा करना था लेकिन अभी तक सिर्फ 20 दिन ही काम हो पाया है, ऐसे में अप्रैल महीने में चीनी कंपनी का करार खत्म करने के बारे में विश्व बैंक को जानकारी दे दी गई थी।

विश्व बैंक कर रहा है फंडिग

दरअसल इस योजना के तहत विश्व बैंक के सारे पैसे मुहैया करा रहा है, इसे लेकर अनुराग सचान ने कहा कि हमें अभी विश्व बैंक से अनापत्ति प्रमाण पत्र नहीं मिला है, लेकिन हमने विश्व बैंक को करार खत्म करने और इस काम के लिए खुद फंड देने की जानकारी दे दी है।

Advertisement