समर्पण हो तो ऐसा! 74 वर्षीय बुज़ुर्ग ने बीमार पत्नी के लिए घर को बना दिया अस्पताल, कार को एम्बुलेंस

पति-पत्नी का रिश्ता आपसी समझ और प्यार का होता है. अपने रिश्ते से वो दुनिया की हर मुश्किल को पार कर सकते हैं. मुसीबत से गुज़र रहे एक ऐसे कपल की कहानी सामने आई है, जो लोगों का दिल जीत रही है.  मध्य प्रदेश के जबलपुर के रहने वाले रिटायर्ड इंजीनियर ज्ञानप्रकाश ने अपनी बीमार पत्नी की देख-रेख के लिए अपने घर को ICU बना डाला. बीमार पत्नी की देखभाल के लिए खुद को पूरी तरह समर्पित करते हुए उन्होंने अपनी कार को भी एम्बुलेंस में तब्दील कर दिया.

74 साल के ज्ञानप्रकाश अपनी पत्नी कुमुदुनी को दवाइयों से लेकर इंजेक्शन लगाने का काम भी खुद ही करते हैं. आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, ज्ञानप्रकाश ऑर्डिनेंस फैक्ट्री से रिटायर्ड इंजीनियर हैं. उनके बच्चे विदेश सेटेल हो गए हैं. उनकी पत्नी को CO2 नार्कोसि​स नाम की बीमारी है. इसमें रोगी को हमेशा ऑक्सीजन सपोर्ट की जरूरत होती है. कई दिन अस्पताल में रहने के बाद ज्ञानप्रकाश ने अपने घर में ही पत्नी के लिए ऐसा माहौल बनाने के बारे में सोचा. उन्होंने घर समेत कार को ऑक्सीजन फिटेट एंबुलेंस में बदल दिया.

रिपोर्ट के अनुसार, वर्तमान में उनके घर में वेंटिलेटर, ऑक्सीजन, एयर प्यूरीफायर आदि जैसी सुविधा मौजूद हैं. उन्होंने अपनी पत्नी के लिए कई मेडिकल डिवाइस भी बनाई हैं, जिसमें मोबाइल स्टेथोस्कोप भी अनोखा है. इसके ज़रिये वो खुद डेली चेकअप करके डॉक्टर को भेज देते हैं और दवा की सलाह लेते हैं.

पत्नी की इस तरह दिन-रात सेवा के चलते उनकी हालत में कुछ सुधार भी आ रहा है. वाकई में, ज्ञानप्रकाश जी जैसे समर्पित लोग बहुत कम ही देखने को मिलते हैं.

Advertisement