नई खरीदी कार में आई खराबी, तो चंडीगढ़ कंज्यूमर कोर्ट ने कंपनी पर लगाया एक लाख हर्जाना, जानें ये पूरा मामला

चंडीगढ़। नई खरीदी कार में तेल रिसाव की खराबी ठीक न करने पर चंडीगढ़ जिला उपभोक्ता आयोग-2 ने इंडस्ट्रियल एरिया फेज-1 स्थित ऑटोपेस नेटवर्क पर एक लाख रुपये का हर्जाना लगाया। इसके अलावा कमीशन ने कंपनी को शिकायतकर्ता की कार में आ रही समस्या को निशुल्क ठीक करने और खराबी पर खर्च हुए 20,190 रुपये की राशि वापस देने का आदेश दिया।

ऑटोपेस कंपनी और मारुति सुजुकी के खिलाफ सेक्टर-41डी के रहने वाले 64 वर्षीय कुलदीप सिंह ने शिकायत दी थी। अपनी शिकायत में कुलदीप ने बताया कि उन्होंने 26 अप्रैल 2017 में मारुति सुजुकी से बलेनो कार ली थी। उन्होंने बताया कि गाड़ी के 4667 किमी चलने के बाद ही उसमें समस्या आने लग गई। उन्हाेंने समस्या के बारे में ऑटोपेस कंपनी को जानकारी दी। जब गाड़ी को सर्विस स्टेशन पर ले जाया गया तो पाया कि उसकी सील में कोई खराबी थी, जिसको मैकेनिक ने बदल दिया। इसके कुछ दिनों बाद ही गाड़ी के इंजन से तेल रिसाव होने लगा, जिसके बाद मैकेनिक ने फिर से सील को बदला।

शिकायतकर्ता ने बताया कि चार बार कार में वही समस्या आ रही थी, जिसे कंपनी की ओर से सही ढंग से ठीक नहीं किया गया। कंपनी के सर्विस सेंटर में जाने के बाद चार बार सील को बदला गया, लेकिन समस्या जस की तस ही बनी हुई थी। उन्होंने इस समस्या की शिकायत सेक्टर-8 स्थित मारुति सुजुकी के ऑफिस में भी की लेकिन कंपनी की ओर से शिकायत पर कोई भी प्रतिक्रिया नहीं दी गई। कार की सील बदलने में उनके करीब 20,190 रुपये खर्च हुए थे, जबकि उनकी कार अभी वारंटी में ही थी। इस बात को लेकर कुलदीप ने चंडीगढ़ जिला उपभोक्ता आयोग में शिकायत दर्ज की जिस पर सुनवाई करते हुए कमीशन ने कंपनी पर एक लाख रुपये हर्जाना लगाया।