‘इस्लाम नहीं कबूला तो तोड़ दूंगी शादी’, हिंदू लड़के के साथ विवाह करने के बाद बोली मुस्लिम महिला

औरैया. पिछले साल अक्टूबर में एक मुस्लिम महिला हिंदू युवक के साथ चली गई थी, अब वह अपने माता-पिता के घर लौट आई है। साथ ही उसने इस बात से इनकार किया है कि उसका युवक ने अपहरण किया था। उसने कहा है कि यदि लड़का इस्लाम अपनाने के लिए राजी हो जाए तो वह उसके साथ रहना चाहेगी।

सेंगनपुर की रहने वाली महिला 12 अक्टूबर 2020 को पास के गांव कुलगांव के आकाश के साथ कथित तौर पर भाग गई थी। इसके बाद उसके पिता ने बेटी का अपहरण करने के आरोप में लड़के के खिलाफ अयाना पुलिस थाने में एफआईआ दर्ज कराई थी।

पुलिस के मुताबिक, दोनों ने दिल्ली के एक मंदिर में 14 अक्टूबर को आर्य समाज की रस्मों से शादी कर ली थी। वे मंगलवार को उसी मंदिर द्वारा जारी किए गए विवाह प्रमाण पत्र के साथ अयाना पुलिस स्टेशन पहुंचे। अयाना पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर ललित कुमार ने कहा, “महिला के पिता की शिकायत पर 14 अक्टूबर को युवक आकाश के खिलाफ पुलिस ने धारा 366 के तहत मामला दर्ज किया था।

बाद में दंपत्ति को अदालत में पेश किया गया, जहां महिला ने अपने परिवार के साथ फिर से जुड़ने की इच्छा जताई थी और इसके बाद बुधवार को उसे उसके माता-पिता के साथ भेज दिया गया।”

पुलिस अधिकारी ने कहा, “अभी तक यह तय नहीं हुआ है कि युवक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी या नहीं। हम इस संबंध में कानूनी राय ले रहे हैं।” खबरों के मुताबिक निजी कंपनी में काम करने वाले युवक ने शुरू में दावा किया था कि उसके माता-पिता उनके रिश्ते को स्वीकार करने के लिए तैयार थे, लेकिन महिला के परिवार और रिश्तेदार इसके खिलाफ थे। यहां तक कि युवक का परिवार आर्य समाज मंदिर में उनकी शादी में भी मौजूद था

Advertisement