HomeOthersपति करता है औरतों की तरह श्रृंगार, नहीं बनाता संबंध', पत्नी की...

पति करता है औरतों की तरह श्रृंगार, नहीं बनाता संबंध’, पत्नी की इस शिकायत पर इंदौर कोर्ट ने सुनाया ये फैसला

मध्य प्रदेश के इंदौर में पति-पत्नी के विवाद का चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां अपने पति पर पत्नी ने गंभीर आरोप लगाए हैं. पत्नी के अनुसार उसका इंजीनियर पति महिलाओं की तरह सजता है और उससे संबंध भी नहीं बनाता है. आरोप है कि पति रोजाना दूसरे कमरे में जाकर रात में सो जाता है. इसके बाद महिला ने पहले ससुरालवालों से शिकायत की लेकिन उन लोगों ने उल्टा उसके साथ मारपीट की गई और मायके ले जाकर छोड़ दिया. परेशान होकर महिला ने जिला कोर्ट से न्याय की गुहार लगाई. वहीं कोर्ट ने सुनवाई करते हुए पति को पीड़ित पत्नी को 30 हजार रुपए महीना हर्जाना देने का आदेश दिया है.

पत्नी से नहीं बना रहा था संबंध

इंदौर के लसूड़िया थाना क्षेत्र में रहने वाली एक पीड़िता की शादी 29 अप्रैल 2018 को 32 साल के इंजीनियर से हुई थी. शादी के बाद दिलेश्वर पत्नी को पुणे ले गया और वहां पर परिवार के साथ रहने लगा. इसी दौरान पीड़िता को पति दिलेश्वर, सास और ननद लगातार परेशान करने लगे. इसके बाद पति पीड़िता को मायके इंदौर छोड़ गया. पूरे मामले की जानकारी पीड़िता के परिजनों को लगी तो दोनों को समझाया गया. इसके बाद एक बार फिर पति पीड़िता को अपने साथ पुणे लेकर गया, लेकिन शादी के काफी दिन गुजर जाने के बाद भी वह अपनी पत्नी से किसी तरह के कोई संबंध नहीं बना रहा था.

पति करता था महिलाओं की तरह श्रृंगार

वहीं पीड़िता ने कई बार कोशिश की लेकिन अचानक से वह विवाद कर दूसरे कमरे में जाकर सो जाता था. पीड़िता को इस दौरान शंका हुई तो उसने पति पर नजर रखी. जब भी विवाद कर वह दूसरे कमरे में सोने के लिए जाता तो महिला पीछे से उस कमरे में नजर रखती. इसी दौरान उसने देखा कि पति दूसरे कमरे में जाकर महिलाओं की तरह श्रृंगार करता था. जब उसने इस पूरे मामले की जानकारी सास और ननद को दी तो उन्होंने पीड़िता के साथ मारपीट की और उसे मायके छोड़ आए. इसके बाद पीड़िता ने परेशान होकर पति, सास और ननद के खिलाफ महिला थाने में शिकायत दर्ज करवा दी.

कोर्ट ने दिया प्रतिमाह 30 हजार रुपए देने का आदेश

वहीं पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर पति, सास और ननद को जेल की सलाखों के पीछे पहुंचा दिया, लेकिन फिर पीड़िता को जीवनयापन की समस्या आने लगी. इसके बाद उसने कोर्ट के समक्ष आवेदन लगाकर पति की करतूतों के बारे में जानकारी दी और हर्जाने की मांग की. वहीं कोर्ट ने इस पूरे मामले में सुनवाई करते हुए प्रतिमाह 30 हजार रुपए पीड़िता को देने के आदेश दिया है. पीड़िता ने कोर्ट के सामने पति की करतूतों के कुछ वीडियो भी साक्ष्य के तौर पर रखे थे, जिसके आधार पर कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया.

Html code here! Replace this with any non empty raw html code and that's it.
RELATED ARTICLES

Most Popular