हरियाणा में फिर शर्मसार हुई मानवता! पति ने पत्नी को 3 साल से टॉयलेट में कर रखा था कैद,शरीर बना ढांचा

पानीपत में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. जिले के सनौली में एक महिला को उसके पति ने करीब 3 साल से बाथरूम में बंद रखा. उसे मारता पीटता और खाने को भी नहीं देता था. महिला संरक्षण अधिकारी ने जब उसे बाहर निकाला तो उसने सबसे पहले रोटी मांगी.

जिला महिला संरक्षण अधिकारी रजनी गुप्ता ने सनौली थाना पुलिस की मदद से महिला को मुक्त कराया है. महिला को नहलाकर दूसरे कपड़े पहनाए तो चूड़ियां और लिपिस्टक मांगी. टायलेट में बंधक रहने से अब उसकी टांगें भी सीधी नहीं हो पा रही हैं

आरोप है कि 35 वर्षीय रामरति को उसके पति नरेश ने ही करीब डेढ़ साल से टायलेट में बंधक बनाकर रखा हुआ था. रजनी गुप्ता ने बताया कि एक सूचना पर मंगलवार को गांव रिशपुर वासी नरेश के घर पहुंची. पुलिस भी साथ रही.

नरेश घर के बाहर दोस्तों के साथ ताश खेलता मिला. पत्नी रामरती के बारे में पूछा तो चुप रहा. सख्ती से पूछा तो घर की पहली मंजिल पर ले गया. उस टायलेट का दरवाजा खोल दिया, जिसमें वह बंद थी. महिला के कपड़े गंदगी से लथपथ थे.

महिला का शरीर हड्डियों का ढांचा बना हुआ था. बाहर निकलते ही उसने खाने के लिए रोटी मांगी. पुलिस ने दबाव बनाया को नरेश ने ही रामरति को नहलाया. एक महिला ने भी उसकी मदद की. कपड़े बदलवाकर भोजन दिया गया.

बंधनमुक्त होने की चेहरे पर खुशी दिखी. उसे पहनने के लिए चूड़ियां और होठों पर लगाने के लिए लिपिस्टक मांगी

Advertisement