HSC Civil Services: हरियाणा सिविल सर्विसेज का बदला परीक्षा पैटर्न, जानें क्या होगा नया

Advertisement

------------- Advertisement -----------

नई दिल्ली. हरियाणा सिविल सेवा परीक्षा (Haryana Civil Services Exam) में प्रारंभिक परीक्षा का सिलेबस बदल दिया गया है. हरियाणा सरकार ने इस बात की जानकारी दी. अब दोनों पेपर्स ऑब्जेक्टिव टाइप के होंगे. नए नियमों के मुताबिक राज्य सिविल सर्विसेज प्रीलिम्स एग्जाम में 100-100 नंबर के दो पेपर होंगे. दोनों पेपर ऑब्जेक्टिव टाइप होंगे. दोनों की अवधि 2-2 घंटे होगी। प्रत्येक गलत उत्तर के लिए एक चौथाई अंक (0.25) काटा जाएगा.

Advertisement

पुराने नियम में हुआ है संशोधन

राज्य सरकार ने ‘हरियाणा सिविल सर्विसेज (एग्जीक्यूटिव ब्रांच) रूल्स 2008′ में संशोधन किया है. अब इसे हरियाणा सिविल सर्विसेज (एग्जीक्यूटिव ब्रांच) अमेंडमेंट रूल्स 2020’ के नाम से जाना जाएगा. नए नियमों के मुताबिक राज्य सिविल सर्विसेज प्रीलिम्स एग्जाम में 100-100 नंबर के दो पेपर होंगे.

होगा ऐप्टीट्यूड टेस्ट

बता दें कि इसमें एक सिविल सर्विसेज एप्टीट्यूड टेस्ट भी होगा जिसमें कॉम्प्रीहेंशन, इंटर पर्सनल स्किल्स, कम्युनिकेशन स्किल, लॉजिकल रीजनिंग, एनालिटिकल एबिलिटी, डिसिजन मेकिंग, प्रोब्लम सोल्विंग, जनरल मेंटल एबिलिटी, बेसिक न्यूमेरेसी, ऑर्डर ऑफ मैग्नीट्यूड (10वीं तक का), डाटा इंटरप्रीटेशन (10वीं लेवल तक का चार्ट, ग्राफ, टेबल, डाटा सफिशियंसी) से जुड़े प्रश्न पूछे जाएंगे.

हाल ही में बढ़ाई गई है आयुसीमा

हाल ही में आयुसीमा को लेकर भी बदलाव किए गए थे. हरियाणा में अब 42 वर्ष आयु वाला व्यक्ति एचसीएस व उससे संबंधित सेवाओं के लिए योग्य होंगे. कैबिनेट की मीटिंग में इस संदर्भ के प्रस्ताव पर मंजूरी दी गई है. जिसके तहत एचसीएस एवं संबद्ध सेवाओं जैसी श्रेणी-1 सेवा के राज्य सरकार विनियमन के अनुरूप नियम 5 में ऊपरी आयु सीमा को 35 वर्ष से संशोधित करके 42 वर्ष करने का निर्णय लिया गया है.

Advertisement