किसान आंदोलन पर गृह मंत्री विज का बयान, अब इन लोगो के खिलाफ होगी कानूनी कार्रवाई

चंडीगढ़- हरियाणा में आज किसानों ने कृषि अध्यादेशों के विरोध में कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन किया। हालांकि यह अध्यादेश आज राज्यसभा में पास भी कर दिए गए हैं। वहीं प्रदेश के गृहमंत्री अनिल विज ने किसानों द्वारा विरोध प्रदर्शन और सड़क जाम करने पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि इसका अधिकारी मूल्यांकन करेंगे कि कहां-कहां सड़क जाम करने की कोशिश की गई है, इसके बाद जाम लगाने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Kisan Andolan 2018 Latest Update - राजस्थान समेत अन्य राज्यों में उग्र हो  रहे किसान आंदोलन के बीच बड़ी ख़बर, यहां 4 दिन पहले आंदोलन खत्म करने की  घोषणा | Patrika News

गृह मंत्री अनिल विज ने कहा है कि किसानों द्वारा किया गया विरोध प्रदर्शन पूर्णतय: फेल रहा है, फिर भी जिला स्तर पर अधिकारी मूल्यांकन करेंगे कि सड़के कहां- कहां रोकने की कोशिश की गई। जहां-जहां प्रशासन को उचित लगेगा वहां-वहां कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान राष्ट्रीय आपदा अधिनियम व अन्य प्रावधानों के तहत कानूनी कार्यवाही जांच के बाद की जाएगी, जिसकी रिपोर्ट हर जिले के अधिकारी देंगे। विज ने कहा कि यह बंद कांग्रेस व भूपिंदर सिंह द्वारा छटपटाहट में किया गया था। किसान तो इसमें गए नहीं, कांग्रेसी व अन्य राजनैतिक दलों ने बन्द की आड़ में रोटियां सेंकने की कोशिश की।

Haryana health minister Anil Vij slips at home, fractures left thigh bone -  chandigarh - Hindustan Times

वही विज ने दिग्विजय चौटाला द्वारा पीपली लाठीचार्ज में हुए घायल किसानों से मुलाकात पर कहा कि जब लाठीचार्ज हुआ ही नहीं तो उससे कोई घायल कैसे होगा, जांच का सवाल नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसा हो सकता है पुलिस ने किसी को सड़क पर वाहन के आगे आने से बचाने के लिए हटाया हो, लेकिन लाठीचार्ज नहीं किया। विज ने कहा कि सड़क पर करते या गिर जाने से किसी को फ्रैक्चर हो सकता है।

Advertisement