हरियाणा को मिलेंगे 688 किलोमीटर के सुपर हाईवे 6 लोकसभा को आपस में जोड़ेंगे

हरियाणा में अब तेज रफ्तार के साथ सुरक्षित सड़कों पर फर्राटा भर सकेंगे। मंगलवार को केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी हरियाणा को बड़ा तोहफा देने जा रहे हैं। गडकरी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये आठ नेशनल हाईवे समेत 11 सड़क परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगे।

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने बताया कि 16 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की लागत से बनने वाले इन नेशनल और स्टे हाईवे व बाईपास से प्रदेश में आधारभूत ढांचे की तस्वीर बदलेगी। सड़क तंत्र के मजबूत होने से उद्योगों के विकास को नई दिशा मिलेगी व उद्यमी प्रदेश में और अधिक निवेश के को आगे आएंगे। यह जानकारी उन्होंने चंडीगढ़ स्थित जेजेपी (जननायक जनता पार्टी) प्रदेश कार्यालय में जन समस्याएं सुनने के बाद पत्रकारों को दी।

उपमुख्यमंत्री ने बताया कि इन विकास परियोजनाओं में रोहतक से जींद होते हुए पंजाब सीमा तक जाने वाला हाईवे, कुरुक्षेत्र जिले के इस्माइलाबाद से नारनौल को जोड़ने वाला ग्रीनफील्ड हाइवे, नारनौल व रेवाड़ी के बाईपास शामिल हैं। उन्होंने कहा कि इस्माइलाबाद-नारनौल ग्रीनफील्ड हाइवे से राज्य के पांच लोकसभा क्षेत्र (कुरुक्षेत्र, करनाल, सोनीपत, रोहतक व भिवानी-महेंद्रगढ़) जुड़ेंगे। ये सड़क परियोजना दिल्ली-मुंबई और कोलकता-अमृतसर औद्योगिक कॉरिडोर का हिस्सा है। इसके शुरू होने से निवेश के लिए ज्यादा से ज्यादा उद्यमी हरियाणा की तरफ आएंगे।

इन सड़क योजनाओं के होंगे शिलान्यास, उद्घाटन

8650 करोड़ रुपये का 227 किलोमीटर इस्माइलाबाद-नारनौल ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस वे। यह दिसंबर 2022 तक पूरा होगा।

1380 करोड़ रुपये की लागत से नारनौल का 6-लेन बाईपास और अटेली मंडी से नारनौल का 4-लेन मार्ग। लंबाई 41 किलोमीटर होगी। रेवाड़ी से अटेली मंडी के बीच 43 किलोमीटर की सड़क 4-लेन बनेगी। 1057 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

गुरुग्राम-पटौदी-रेवाड़ी मार्ग 4 और 6-लेन बनेगा।  1524 करोड़ रुपये खर्च आएगा।

Advertisement