आज से शुरू हुई हरियाणा रोडवेज इन रूटों पर शुरू हुई सेवा! जानिए समय सारिणी

चंडीगढ़ । हरियाणा में 54 दिन के लंबे अंतराल के बाद शुक्रवार से परिवहन सेवा दोबारा शुरू हो गई। आज सुबह आठ बजे बसें चलना शुरू हुईं। पहले चरण में सरकार ने दस जिलों में बस सेवा शुरू करने का फैसला किया है। इसके बाद बस सेवा का विस्तार किया जाएगा। शुक्रवार से अंतर जिला बस सेवा शुरू हुई। अंतरराज्जीय बस सेवा के संचालन का फैसला पड़ोसी राज्यों से बातचीत के बाद किया जाएगा।

पहले चरण में लंबे रूटों पर केवल 29 बसों का संचालन

हरियाणा में 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के साथ ही परिवहन सेवाएं बंद कर दी गई थीं। अब कोरोना को लेकर हरियाणा में हालात धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं, जिसके चलते आज से पहले चरण में 29 रूटों पर बसों का संचालन शुरू किया गया है। बता दें कि परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने बृहस्पतिवार को अधिकारियों की बैठक लेकर बसों के रूट प्लान को मंजूरी प्रदान की थी। साथ ही बसों के संचालन के लिए नियम भी तय किए गए हैं।

अभी इंटर डिस्ट्रिक्ट बसें चलेंगी, इंटर स्टेट बसों के संचालन पर अभी फैसला नहीं

परिवहन मंत्री के अनुसार पहले चरण में अंबाला, भिवानी, हिसार, कैथल, करनाल, नारनौल, पंचकूला, रेवाड़ी, रोहतक व सिरसा डिपो से बस सेवा शुरू हुई है। यहां से चलने वाली बस कुरुक्षेत्र, जींद, चरखी दादरी व फतेहाबाद जिलों को भी कवर करेंगी।

बसों में यात्रा के लिए ऑनलाइन ही टिकट बुकिंग, एक बस में  30 से ज्यादा यात्री नहीं

परिवहन मुख्यालय से इन दसों जिलों के रोडवेज महाप्रबंधकों को लिखित में इस बाबत निर्देश जारी किए गए। पत्र में स्पष्ट किया गया कि रोडवेज बस हरियाणा से बाहर और कोरोना वायरस से अधिक प्रभावित क्षेत्रों में नहीं जाएंगी। यात्रियों को बस यात्रा के लिए ऑनलाइन पोर्टल पर टिकट की बुकिंग करवानी होगी। कन्फर्म बुकिंग वाले यात्रियों को ही बस अड्डों में प्रवेश करने की अनुमति होगी। एक बस में 30 से ज्यादा यात्री नहीं बैठ सकेंगे।

नूंह समेत आठ जिलों में अभी बसों का संचालन नहीं

अभी आठ जिलों को परिवहन सेवा से दूर रखा गया है। प्रदेश के पानीपत, सोनीपत, झज्जर, गुरुग्राम व फरीदाबाद में कोरोना पॉजिटिव केस अधिक होने की वजह से इन जिलों को बस सुविधा से अभी दूर रखा है। इनके साथ सटे पलवल व नूंह में भी अभी बस सेवा शुरू नहीं होगी। उत्तर प्रदेश से सटा यमुनानगर जिला भी अभी परिवहन सेवाओं से दूर ही रहेगा।

अंबाला छावनी से छह बसें , अगले दिन लौटेंगी

परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा के अनुसार गृह मंत्री अनिल विज के विधानसभा क्षेत्र अंबाला कैंट से रोजाना छह बस चलाई गई हैं। ये बस करनाल, कैथल और पंचकूला में आना-जाना करेंगी। अंबाला कैंट से करनाल, कैथल और पंचकूला में पहली बस सुबह आठ बजे चलना शुरू हुई। दूसरी सुबह 11 बजे जाएगी। भिवानी से जींद-कैथल होते हुए पंचकूला और हिसार से कैथल होते हुए पंचकूला रोजाना सुबह नौ बजे एक-एक ही बस रवाना होगी। ये बस अगले दिन पंचकूला से वापस लौटेंगी। इसी तरह कैथल से अंबाला कैंट के लिए एक बस सुबह साढ़े 8 बजे चली तो दूसरी दोपहर डेढ़ बजे जाएगी।

इन जिलों में चलेगी बसें

अंबाला: यहां से 6 रूट पर बसें चलेंगी। ये अंबाला कैंट-करनाल-अंबाला कैंट, अंबाला कैंट-कैथल-अंबाला कैंट और अंबाला कैंट-पंचकूला-अंबाला कैंट रूट शामिल हैं। तीनों रूट पर दो-दो बसों को अलग-अलग टाइम पर चलाया जाएगा।

भिवानी: यहां से एक रूट पर बस चलेगी, जो भिवानी-जींद-कैथल से होते हुए पंचकूला पहुंचेगी। जिसका समय सुबह 9 बजे होगा।

हिसार: यहां से एक रूट पर बस चलेगी, जो हिसार-कैथल से होते हुए पंचकूला पहुंचेगी। इसका समय भी सुबह 9 बजे रखा गया है।

कैथल: यहां से दो रूट पर बसें चलेंगी, जो कैथल-अंबाला कैंट-कैथल रूट पर चलेंगी। जो सुबह 8.30 बजे और दोपहर 1.30 बजे चलेंगी।

करनाल: यहां से दो रूट पर बसें चलेंगी, जो करनाल-अंबाला कैंट-करनाल के बीच चलेंगी। जो सुबह 8.30 बजे और दोपहर 1.30 बजे चलेंगी।

नारनौल: यहां से तीन रूट पर बसें चलेंगी, जो नारनौल-चरखी दादरी-रोहतक-पंचकूला जाएगी। नारनौल-रेवाड़ी-नारनौल के बीच दो बसें चलाई जाएंगी।

पंचकूला: यहां से 9 रूट पर बसें चलेंगी। एक बस पंचकूला-साहा-शाहाबाद-पिपली-करनाल फिर पंचकूला पहुंचेगी, दूसरी बस पंचकूला-अंबाला कैंट-रोहतक, तीसरी बस पंचकूला-रोहतक-चरखी दादरी-नारनौल, चौथी बस पंचकूला-रोहतक-रेवाड़ी,पांचवीं बस पंचकूला-कैथल-हिसार, छठी बस पंचकूला-फतेहाबाद-सिरसा, 7वीं बस पंचकूला-कैथल-जींद-भिवानी, 8वीं बस पंचकूला-अंबाला कैंट-पंचकूला, 9वीं बस पंचकूला-अंबाला कैंट-पंचकूला रूट पर जाएगी।

रेवाड़ी: यहां से तीन रूट पर बसें चलेंगी। ये रेवाड़ी-रोहतक-पंचकूला और दो बसें रेवाड़ी-नारनौल-रेवाड़ी के बीच चलेंगी।

रोहतक: यहां से एक रूट पर बस चलेगी, जो रोहतक-करनाल-अंबाला कैंट-पंचकूला जाएगी।

सिरसा: यहां से एक रूट पर बस चलेगी, जो सिरसा-फतेहाबाद-पंचकूला जाएगी।

Advertisement