हरियाणा रोडवेज को मिली 800 लग्जरी बसें, इन रूटों पर होगा संचालन, यात्रियों को मिलेगी लग्जरी सुविधा

 हरियाणा में अब इलेक्ट्रिक और लग्जरी बसों  का संचालन होगा। 10 जिलों में 800 बसें आएंगी। ये सभी एसी बसें (AC BUS) होंगी। एक बार बैटरी चार्ज होने पर बस 200 KM का सफर तय करेगी। इन बसों में पहले से चल रही बसों के समान किराया ही यात्रियों को चुकाना होगा।

CMO को भेजा गया प्रपोजल

बसों का संचालन नगर निगम द्वारा किए जाने पर विचार किया जा रहा है, इसके अलावा स्पेशल पर्पज व्हीकल योजना के तहत भी संचालन हो सकेगा। परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा यह प्रपोजल सीएमओ को भेजेंगे। यहां से अनुमति  मिलते ही बसें आएंगी। संभावना यही है कि नवंबर में पहली बस आएगी, जो महीनेवार बढ़ती रहेंगी। सरकार पहले भी 2000 अन्य बसें खरीदने की योजना बना चुकी है।

एक बार चार्ज करने पर 200 किमी तक चलेंगी

रोडवेज अधिकारियों ने बताया कि एक बस की लंबाई 12 मीटर होगी, इसमें 50 प्लस सीट होंगी। यह बस एक बार चार्ज होने पर करीब 200 किलोमीटर का सफर तय करेगी। प्रपोजल पर CMO से यदि इसी माह मुहर लग जाती है तो बसें नवंबर तक हरियाणा में आना शुरू हो जाएंगी।

12 साल या 10 लाख किमी तक चलेंगी बसें

हरियाणा रोडवेज के अधिकारियों ने सीईसीएल कंपनी (CECL Company) से संपर्क किया है, जहां इलेक्ट्रिक बसों (electric buses) के संचालन को लेकर बातचीत का दौर शुरू हुआ है।

कंपनी की ओर से ड्राइवर (Driver),चार्जिंग स्टेशन (charging station), इलेक्ट्रिक रिपेयर मैनेजमेंट (Electric Repair Management), बिजली खर्च आदि शामिल होगा। एक बस को 12 साल या 10 लाख KM तक चलाने की योजना है। कंपनी की ओर से देश के 5 शहर सूरत, हैदराबाद, दिल्ली, बैंगलूर और कोलकाता के लिए 5,450 बसें देने के लिए टेंडर (Tender) फाइनल हुआ है।

एक से दूसरे जिले तक आसानी से कर सकेंगी सफर

इन बसों का संचालन यूं तो शहरों में करने की योजना है, लेकिन इन बसों को दूसरे जिलों तक भी कनेक्ट (connect) किया जाएगा, हरियाणा में एक से दूसरे जिले की दूरी (distance) इतनी अधिक नहीं है। चूंकि बस 200 किलोमीटर तक चल सकेगी, रोडवेज डिपो में इन बसों की चार्जिंग की सुविधा मिलेगी।

प्रदूषण कम करने के लिए लिया गया फैसला

हरियाणा में इलेक्ट्रिक बसों (electric buses) का संचालन शुरू होगा, इससे प्रदूषण कम करने में मदद मिलेगी। 800 बसों का 10 जिलों में संचालन किए जाने की योजना है। प्रपोजल (proposal) तैयार कर CMO को भेजा जाएगा।

Advertisement