राम रहीम के लिए हरियाणा सरकार ने चोरी चुपके किया ये काम, जानकर हो जाएंगे दंग

रोहतक. रेप और हत्या के जुर्म में उम्रकैद की सजा काट रहे हरियाणा के डेरा सच्चा सौदा के मुखिया गुरमीत राम रहीम को बीते दिनों एक दिन की पैरोल दी गई थी. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, राम रहीम को 24 अक्टूबर को ही पैरोल दी गई थी, जिसकी सूचना अब बाहर आई है.

डेरा प्रमुख रेप और हत्या मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद रोहतक की जेल में बंद है. सूत्रों ने बताया कि राम रहीम ने अपनी बीमार मां से मिलने के लिए एक दिन का पैरोल मांगी थी. वह गुरुगाम के एक अस्पताल में भर्ती हैं.

राम रहीम की सुरक्षा में पुलिस की तीन टुकड़ियां तैनात रही


डेरा प्रमुख को सुनारिया जेल से गुरुग्राम अस्पताल तक भारी सुरक्षा के बीच ले जाया गया. सूत्रों का कहना है कि राम रहीम 24 अक्टूबर को शाम तक अपनी बीमार मां के साथ रहे थे. सूत्रों ने बताया कि हरियाणा पुलिस की तीन टुकड़ियां तैनात रहीं. एक टुकड़ी में 80 से 100 जवान थे. डेरा चीफ को जेल से पुलिस की एक गाड़ी में लाया गया. बताया जा रहा है कि रोहतक पुलिस को सुरक्षा व्यवस्था का निवेदन मिला था और 24 अक्टूबर को सुबह से लेकर शाम तक सुरक्षा उपलब्ध कराई गई थी.

परोल पर तरीके पर उठे सवाल

बताया जा रहा है कि हरियाणा के कुछ वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों को ही इसकी जानकारी थी. इससे पहले भी रामरहीम को पेरोल देने की बातें सामने आई थी. हालांकि, सरकार ने पेरोल देने इनकार कर दिया था, लेकिन अब पेरोल देने के तरीके पर सवाल उठ रह हैं

Advertisement