हरियाणा के उपमुख्यमंत्री को मिला विधानसभा में रूम, बनेगा कार्यालय

चंडीगढ़ : हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष ज्ञान चन्द गुप्ता ने बताया की हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को हरियाणा विधानसभा में रूम दे दिया गया है। हरियाणा में चीफ व्हिप को मिला रूम अब भविष्य में उपमुख्यमंत्री दुष्यंत का कार्यालय बनेगा। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के हस्तक्षेप के विधानसभा में अब चीफ व्हिप वाला रूम देने पर सहमति बनी है।

उपमुख्यमंत्री के रूप में दुष्यंत चौटाला को विधानसभा में कार्यालय मिलने के बाद यह पहले ऐसे व्यक्ति हैं जिन्हें उपमुख्यमंत्री विधानसभा में रूम मिला है। अतीत में हुड्डा व मनोहर सरकारों में जब मुख्य सचेतक सत्ता पक्ष व नेता विपक्ष संसदीय मंत्री के रूप में पहली बार रूम मिलते रहे थे। राज्य में अब तक चांदराम, डा. मंगलसेन,बनारसी दास गुप्ता, मा. हुकम सिंह और चंद्रमोहन बिश्नोई डिप्टी सीएम रह चुके हैं। हरियाणा विधानसभा में स्पीकर, मुख्यमंत्री, सचेतक सत्ता पक्ष, संसदीय मंत्री, नेता प्रतिपक्ष को ऑफिस दिए जाने की व्यवस्थाएं हैं। हुड्डा सरकार में संसदीय मंत्री के रूप में पहली बार रूम रणदीप सिंह सुरजेवाला को व भाजपा सरकार में मुख्य चेतक सत्ता पक्ष व नेता विपक्ष को बैठने के लिये ऑफिस पहली बार मिला था। हरियाणा विधानसभा में चर्चाओ के अनुसार भवन के आधे से ज्यादा भाग पर पंजाब विधानसभा का कब्जा है। हरियाणा गठन के वक्त पंजाब व हरियाणा विधानसभा को भी 60 व 40 प्रतिशत के हिस्से में बांटने की बात हुई थी।

जे जी पी ने हरियाणा सरकार बनते ही सबसे पहले विधानसभा सत्र से पहले लिखे पत्र में हरियाणा विधानसभा में उपमुख्यमंत्री के लिए एक ऑफिस तैयार करवाने के लिए पत्र लिखा था। जे जी पी के लेटरपैड पर विधानसभा हरियाणा पत्र में लिखित रूप से इस बारे कहा गया था। हरियाणा में अतीत किसी भी उपमुख्यमंत्री द्वारा इस प्रकार की मांग कभी विधानसभा से नही की गई. इसलिए विधानसभा में उपमुख्यमंत्री का रूम भी अतीत में नही था

Advertisement