ग्राम सचिव की परीक्षा में हरियाणा सरकार के दावे हुए फुस, पकड़े गए इतने मामले ग्राम सचिव, जानिए पूरा मामला

जींद। हरियाणा के अलग-अलग जिलों में हुई ग्राम सचिव की परीक्षा को लेकर नए-नए खुलासे हो रहे है। बतादें कि ग्राम सचिव की परीक्षा की आंसर-की के साथ खिलवाड़ किया गया है। गौरतलब है कि ये कोई पहली बार नहीं हुआ है। कहना गलत नहीं होगा कि इस मामले को लेकर अब हरियाणा सरकार के बड़े -बड़े दावों की पोल खुलती नजर आ रही है। सबसे पहले आपको बतादें कि पानीपत के समालखा में ग्राम सचिव पेपर लीक प्रकरण में रोहतक एक बार फिर से दागदार हो गया है।

पुलिस ने 14 आरोपितों को गिरफ्तार किया है, जिसमें जिले के आठ आरोपित शामिल हैं। यह पहला मामला नहीं है, इससे पहले एआइपीएमटी, एयरपोर्ट के तकनीकी पदों की ऑनलाइन परीक्षा सहित अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं में फर्जीवाड़े में यहां के लोगों की संलिप्तता सामने आ चुकी है। एआइपीएमटी पर्चा लीक मामले के बाद तो जिले को ब्लैक लिस्ट में डाल दिया था, जिसके कारण कई वर्षों तक कोई बड़ी परीक्षाओं का आयोजन तक नहीं हो पाया। अब फिर से ग्राम सचिव पेपर लीक में संलिप्तता पाई गई है।

तो वहीं दूसरी तरफ ग्राम सचिव की परीक्षा के दौरान जींद में आंसर-की के साथ पकड़ी गई युवती को आंसर-की पहुंचाने में भिवानी के एक युवक का नाम सामने आया है। जींद पुलिस की प्राथमिक जांच में भिवानी-लोहारू मार्ग पर पड़ने वाले एक गांव के युवक का नाम सामने आया है। युवती से युवक का फोन नंबर और नाम तो पता लगा मगर युवक ने अपना फोन स्विच ऑफ कर लिया है।

युवक की तलाश में जींद पुलिस भिवानी पहुंची। बताना लाजमी है कि ग्राम सचिव की परीक्षा लीक करा रहे 14 आरोपियों को समालखा में गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने किया काबू। डीएसपी पूजा वशिष्ठ की अध्यक्षता में कार्यवाही करते हुए पुलिस ने पैराडाइज स्कूल के मालिक व उसके बेटे समेत पानीपत से 5 रोहतक से 8 और सोनीपत से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया।

गिरफ्तार आरोपियों से कुल 18 मोबाइल, 2 लैपटॉप,1 प्रिंटर ,1 वायरलेस ब्लूटूथ डिवाइस, 4 कारें और दो एमटीएस पास बरामद हुए हैं। हालांकि पैराडाइज स्कूल के प्रिंसिपल की इस घटना में कोई भूमिका अभी तक सामने नहीं आई है। डीजीपी मनोज यादव इस पूरी घटना की मॉनिटरिंग कर रहे थे। चार लोगों को पुलिस ने मौके पर ही गिरफ्तार कर लिया था। इस बारे पानीपत एसपी शशांक कुमार सावन ने पत्रकारवार्ता कर बताया कि आरोपी पेपर का फोटो खींच उसे बाहर ले जाकर व्हाट्सएप पर लीक कर रहे थे। एसपी ने और भी कई व्यक्तियों के इसमें लिप्त होने की आशंका जताई है। इससे पहले भी एक एफआईआर हिसार में दर्ज की गई थी। जिसमें कुल 10 से 11 लोग गिरफ्तार किए गए हैं।

गिरफ्तार आरोपियों पर धारा 420 और 120 बी के तहत कार्यवाही की जाएगी। उन्हें रिमांड पर लेकर आगे की पूछताछ की जाएगी। उल्लेखनीय है कि ग्राम सचिव की परीक्षा के दौरान जींद के बाल आश्रम स्कूल में बने परीक्षा केंद्र पर एक युवती को आंसर-की के साथ पकड़ा गया था। जिसके खिलाफ जींद में धोखाधड़ी का केस दर्ज किया गया है। प्राथमिक जांच में सामने आया कि युवती को उसके एक दोस्त ने आंसर-की मुहैया करवाई। फोन पर आंसर-की भेजी गई।

जिसकी युवती ने कागज पर पर्चियां बनाई और परीक्षा केंद्र पर लेकर पहुंची। युवती और उसके फोन से मिले नंबर के आधार पर युवक की पहचान भिवानी वासी विनय के रूप में हुई। जींद पुलिस अधिकारियों के अनुसार विनय पुलिस में ही कार्यरत है और फिलहाल मेवात में तैनात है। युवती के पकड़े जाने के बाद उक्त युवक फरार है और उसका फोन भी स्विच ऑफ है। फ़िलहाल इन सब मामलो की गहराई से छानबीन की जा रही है।

Advertisement