गूगल मैप ने दिखाया ‘मौत का रास्ता’, बांध में जा गिरी कार

अक्सर अनजान जगहों पर यात्रा करते समय मंजिल तक पहुंचने के लिए लोग गूगल मैप पर निर्भर रहते हैं, लेकिन हर समय गूगल मैप पर निर्भर रहना खतरे से खाली नहीं है। महाराष्ट्र में अहमदनगर के अकोले में गूगल मैप का सहारा लेना एक शख्स को इतना भारी पड़ गया कि उसकी मौत हो गई।

बताया जा रहा है कि रविवार रात फॉर्च्यूनर से तीन लोग कालसुबाई चोटी जाने के लिए निकले थे। वह गंतव्य तक जाने के लिए गूगल मैप का सहारा ले रहे थे, लेकिन गूगल मैप पर गलत जानकारी होने के चलते उनकी गाड़ी बांध में गिर गई। हादसे में 34 साल के सतीश घुले की मौत हो गई। हालांकि, कार सवार बाकी दो लोग सही सलामत बच गए।

रविवार रात हुआ हादसा

अकोले पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ इंस्पेक्टर अभय परमार ने बताया कि यह हादसा रविवार रात करीब 1:45 बजे हुआ। पुणे निवासी कार चालक सतीश घुले अपने बॉस गुरु शेखर और उनके दोस्त समीर राजुरकर को ट्रेकिंग के लिए कालसुबाई चोटी ले जा रहा था। पुलिस के मुताबिक, रात के अंधेरे में तीनों रास्ता भटक गए। ऐसे में उन्होंने गूगल मैप की मदद ली। मैप पर दिख रहे रास्ते के हिसाब से चलने पर कार बांध के पानी में फंस गई।

ऐसे बची दो लोगों की जान

बताया जा रहा है कि इस दौरान शेखर और राजुरकर गाड़ी की खिड़की तोड़कर बाहर निकल गए और तैरकर अपनी जान बचा ली, लेकिन सतीश को तैरना नहीं आता था। ऐसे में उसकी जान चली गई। पुलिस ने केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

गूगल मैप ने बताया गलत रास्ता

पुलिस अधीक्षक राहुल मधने ने बताया कि हादसे की जगह पर एक पुल बना हुआ है, जो सिर्फ आठ महीने चालू रहता है। बारिश के मौसम के बाद चार महीने के लिए वहां बनाए गए बांध को खोल दिया जाता है। बांध से पानी छोड़ने के  कारण पुल पानी के अंदर डूब जाता है। ऐसे में इसका उपयोग नहीं किया जा सकता है, लेकिन गूगल मैप पर यही रास्ता दिखने पर चालक ने गाड़ी आगे बढ़ा दी। ऐसे में कार बांध के पानी में समा गई।

Advertisement