खुशखबरी: बहुत सस्ता होने जा रहा पेट्रोल-डीजल, ये है बड़ी वजह

लखनऊ: कोरोना महामारी संकट के बीच महंगाई की मार झेल रही आम जनता को आने वाले दिनों में बड़ी राहत मिल सकती है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में एक हफ्ते के दौरान 8 प्रतिशत की गिरावट आई है। अब इस बीच एक्सपर्ट्स ने उम्मीद जताई है कि घरेलू स्तर पर पेट्रोल डीजल की कीमतों में गिरावट होगी।

एक्सपर्ट्स के मुताबिक कच्चा तेल के दाम में कमी होने से ऑयल मार्केटिंग कंपनियों को राहत मिलेगी। उन्होंने इसका कारण बताया कि भारत अपनी जरूरतों का 82 प्रतिशत कच्चा तेल विदेशों से खरीदता है। बीते कुछ महीनों से पेट्रोल के दामों में लगातार बढ़ोत्तरी हुई है या दाम स्थिर रहे हैं।

तेल कंपनियों पर कीमत कम करने का दबाव है। लिहाजा अब आने वाले दिनों में ब्रेंट क्रूड के दाम गिरने से ग्राहकों को राहत मिल सकती है। मौजूदा स्तर से अगर क्रूड में 20 प्रतिशत की गिरावट हुई तो पेट्रोल और डीजल के दाम में 5 प्रतिशत की कमी की जा सकती है। मतलब पेट्रोल और डीजल 2.5 से 3 रुपये प्रति लीटर तक सस्ता हो सकता है।

इतने रुपए सस्ते हुए पेट्रोल-डीज़ल

अगर दिल्ली की बात की जाए तो 10 सितंबर के बाद से इसमें रुक रुक कर कमी हो रही है। अब तक पेट्रोल 1.19 रुपये प्रति लीटर तक सस्ता हो चुका है, जबकि इस दौरान डीजल 3.10 रुपये प्रति लीटर सस्ता हुआ।

6 प्रतिशत तक सस्ता हुआ कच्चा तेल

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद से कच्चे तेल की कीमतों में भारी गिरावट दर्ज की गई है। इसके साथ ही कच्चे तेल की मांग लगातार कमी हो रही है। इसकी वजह से क्रूड की कीमतों पर दबाव है। ऐसा इसलिए क्योंकि जहां पर कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं, वहां, बिजनेस गतिविधियों में गिरावट आ रही है। इसीलिए तेल की मांग में कमी हो रही है।

इसके कारण कई कंपनियों ने डिस्काउंट देने की शुरुआत कर दी है कि उनके प्रोडक्शन की खपत हो जाए। ऐसे में आने वाले दिनों क्रूड में फिर बड़ी गिरावट होने की संभावना है। अक्टूबर तक ब्रेंट क्रूड की कीमत गिरकर 32 डॉलर प्रति बैरल के स्तर तक आ सकती है।

Advertisement