खुशखबरी: अब फिर कॉलेजों में सजेंगे मंच, मचेगा धमाल, कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी ने लिया बड़ा फैसला

पानीपत/कैथल। कोरोना काल में जिले में कालेजों में स्नातक और स्नातकोत्तर की कक्षा में दाखिला प्रक्रिया संपन्न हो चुकी है। यह प्रक्रिया संपन्न होने के बाद अब कालेजों में नियमित रुप से कक्षाएं भी लगाई जा रही है। काेविड-19 के कारण जहां कालेजों में कक्षाएं लगने बंद हुई थी।

वहीं कालेजों में विद्यार्थियों की प्रतिभा को निखारने के लिए भी सभी सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन बंद कर दिया गया था। अब कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय ने नए साल पर उनके आधीन आने वालने कालेजों को सांस्कृतिक कार्यक्रम करवाने की अनुमति दे दी है। इसी संदर्भ में कुवि के युवा एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम विभाग की ओर से पत्र जारी कर सभी कालेजों के प्राचार्यां को आने वाली 15 जनवरी तक प्रतिभा खोज कार्यक्रम आयोजित करने के आदेश जारी किए हैं।

पत्र में इन कार्यक्रमों को ऑनलाइन और ऑफलाइन माध्यम से करवाने के लिए कहा गया है। इसमें यह भी बताया गया है कि यदि कालेज सांस्कृतिक कार्यक्रमों को ऑफलाइन माध्यम से आयोजित करना चाहता है तो वह इसके  आयोजन में सरकार की ओर से जारी की गई सभी एसओपी का पालन करना सुनिश्चित करें।

कालेज यह करवा सकते हैं प्रतियोगिताएं :    

कुवि के युवा एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम विभाग की ओर से जारी किए गए पत्र के अनुसार नौ प्रतिस्पर्धाएं करवा सकते हैं। जिसमें भाषण, गायन, नृत्य, मोनो एक्टिंग, पेटिंग, प्रश्नोत्तरी, कविता, मिमिक्री और संगीत वादक बजाना शामिल हैं। यह प्रतिस्पर्धाएं ऑनलाइन और ऑफलाइन दाेनों माध्यम से करवाई जा सकती हैं।

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के युवा एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम विभाग के सदस्य एवं आरकेएसडी कालेज के प्रो. डा. अशोक अत्रि ने बताया कि विभाग ने सभी कालेजों के प्राचार्यों को कालेजों में बंद हुए सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन को लेकर पत्र जारी कर जानकारी दी है। जिसमें प्राचार्य कालेज में अपनी मर्जी के अनुसार 15 जनवरी तक कभी भी कार्यक्रम का आयोजन करवा सकता है। इस सांस्कृतिक कार्यक्रम में पहले स्थान पर रहने वाले प्रतिभागी को 600, दूसरे स्थान पर रहने वाले 500 और तीसरे स्थान पर रहने वाले प्रतिभागी को 400 रुपये पुरस्कार के रुप में दिए जाएंगे।

Advertisement