खुशखबरी: आज से लखनऊ-दिल्ली के बीच पटरी पर दौड़ने लगी तेजस एक्सप्रेस, जानिए क्या हैं नए नियम?

IRCTC Tejas Express: देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) आज से फिर पटरी पर दौड़ने लगेगी. भारतीय रेलवे (Indian Railway) की पहली कॉर्पोरेट ट्रेनें, लखनऊ-नई दिल्ली (ट्रेन नंबर -82501 / 82502) और अहमदाबाद-मुंबई (ट्रेन नंबर -82902 / 82901) सेवाएं 19 मार्च से बंद होने के लगभग 7 महीने बाद आज से फिर शुरू होंगी. इन दो तेजस एक्सप्रेस ट्रेनों का संचालन भारतीय रेलवे की सहायक कंपनी, इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) करती है. हालांकि इन ट्रेनों का सफर अब पहले की तरह नहीं होगा. देश में जारी कोरोना संकट (COVID-19) के संक्रमण को देखते हुए IRCTC ने Tejas Express में यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए दिशा निर्देश (Tejas Express Travel Guidelines) जारी किए

ट्रेन में सोशल डिस्ट्रेंसिंग का खास ख्याल रखा जाएगा. साथ ही ट्रेनों में लोगों के बीच सुरक्षित दूरी सुनिश्चित करने के लिए एक-एक सीट को खाली रखा जाएगा. यात्रियों के ट्रेन में सवार होने से पहले उनके शरीर के तापमान की जांच की जायेगी. एक बार सीट पर बैठ जाने के बाद यात्रियों को सीट बदलने की मंजूरी नहीं होगी. आईआरसीटीसी ने कहा कि सभी यात्रियों को कोविड-19 बचाव किट प्रदान की जाएगी. इस किट में हैंड सेनेटाइजर, मास्क, फेस शील्ड और दस्ताने होंगे.

तेजस एक्सप्रेस

ट्रेन के सभी डिब्बों की नियमित तौर पर सफाई की जाएगी. यात्रियों के सामान को भी ट्रेन के कर्मचारी स्वच्छ व डिसइन्फेंक्ट करेंगे. इसके साथ-साथ यात्रियों और कर्मचारियों के लिए फेस कवर/ मास्क का उपयोग अनिवार्य होगा. सभी यात्री आरोग्य सेतु ऐप (Arogya Setu App) इंस्टॉल करेंगे और जब भी मांग की जाएगी, तब वे इसे दिखायेंगे. टिकट बुक करते समय यात्रियों को विस्तृत निर्देश दिये जाएंगे. IRCTC द्वारा संचालित तीसरी निजी ट्रेन काशी महाकाल एक्सप्रेस (इंदौर से वाराणसी) अभी अपनी सेवाएं शुरू नहीं करेगी.

बता दें कि इस ट्रेन के विलंब होने पर यात्रियों को मुआवजा दिया जाता है. एक घंटे से अधिक की देरी पर 100 रुपये और दो घंटे से अधिक विलंब होने पर 250 रुपये का मुआवजा मिलता है.

Advertisement