रोहतक वालों के लिए खुशखबरी, रेलवे ने दिया ये तोहफा ! शहर का जाम होगा खत्म

Advertisement

------------- Advertisement -----------

हरियाणा के रोहतक में लोगों को अगर किसी चीज से सबसे ज्यादा परेशानी है, तो वह रेलवे क्रॉसिंग यहां पर एक नहीं दो नहीं बल्कि 5 लेवल क्रॉसिंग हैं. इस वजह से पूरा शहर ट्रैफिक जाम से जूझता रहता है. लेकिन, अब जल्द ही इस से रोहतक को छुटकारा मिल जाएगा. रेल मंत्री सुरेश प्रभु मंगलवार को यानी 1 नवंबर को मुंबई से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए रोहतक में एलिवेटेड रेलवे ट्रैक का फाउंडेशन स्टोन रखने जा रहे हैं.

मंगलवार को रोहतक में बजरंग भवन में भी इसको लेकर एक समारोह हो रहा है. इसमें हरियाणा सरकार के मंत्री मनीष कुमार ग्रोवर, रोहतक की मेयर रेनू डाबला के साथ साथ अन्य दूसरे नेता भी हिस्सा लेंगे.

Advertisement

रोहतक वालों की सबसे बड़ी समस्या यहां की रेल लाइन है. लिहाजा इस रेल लाइन को एलिवेटेड करने का फैसला किया गया है. रोहतक से गोहाना तक 4 किलोमीटर की दूरी मैं रेलवे ट्रैक को एलिवेटेड किया जाएगा. ऐसा अनुमान है कि इसमें तकरीबन 314 करोड रुपए का खर्च आएगा. 314 करोड़ में से रेलवे से 70 करोड रुपये देगी और बाकी खर्चा हरियाणा सरकार उठाएगी.

गौरतलब है कि पिछले साल अप्रैल में रेल मंत्री सुरेश प्रभु हरियाणा के दौरे पर थे. तब उनसे हरियाणा के मुख्यमंत्री ने रोहतक में रेलवे लाइन की वजह से होने वाली परेशानी का जिक्र किया था और उनसे अल्टरनेटिव हल ढूंढने को कहा था. इसके बाद सुरेश प्रभु ने रेलवे अधिकारियों से मंत्रणा की थी और उस में पाया गया था कि अगर रोहतक में गोहाना तक की रेलवे ट्रैक को एलिवेटेड कर दिया जाए, तो रोहतक वासियों को सड़क जाम की तमाम समस्याओं से मुक्ति मिल जाएगी.

रेलवे के आला अफसरों के मुताबिक, एलिवेटेड ट्रैक मौजूदा रेलवे लाइन के किनारे किनारे ही बनाया जाएगा. इसके लिए रेलवे लाइन के किनारे 12 मीटर चौड़ी पट्टी को रेलवे सड़क बनाने के लिए देगा जब रेलवे का एलिवेटेड ट्रैक बन जाएगा, तो सड़क अपनी पुरानी जगह पर कर दी जाएगी. रेलवे को उम्मीद है एलिवेटेड ट्रैक बन जाने के बाद रोहतक में सड़क यातायात आसानी से चल पाएगा.

Advertisement