हरियाणा के बुजुर्गों के लिए खुशखबरी, अब सिर्फ ये काम करने पर बस में लगेगा आधा किराया

चंडीगढ़। हरियाणा रोडवेज की बसों में सफर करने वाले वरिष्ठ नागरिकों के लिए खुशखबरी है। बुजुर्गों को बस किराये में छूट के लिए हरियाणा सरकार के समाज कल्याण विभाग ने वरिष्ठ नागरिक पहचान पत्र की अनिवार्यता समाप्त कर दी है तथा यह छूट उन्हें अब आधार कार्ड, वोटर कार्ड या जन्मतिथि अंकित कोई पहचान पत्र के आधार पर ही मिलेगी।

एक सरकारी प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि हरियाणा में अब वरिष्ठ नागरिकों को बस किराये में छूट के लिए समाज कल्याण विभाग से अलग से कार्ड बनवाने की जरूरत नहीं है। वरिष्ठ नागरिकों को आधार कार्ड और वोटर कार्ड पर ही बस किराया में छूट मिलेगी। इस कार्ड के जरिये रेलवे व हरियाणा रोडवेज की बसों में 50 फीसदी छूट मिलेगी।

इसी के चलते समाज कल्याण विभाग ने वरिष्ठ नागरिकों के अलग से कार्ड बनाने बंद कर दिए हैं। ऐसे नागरिकों को यात्रा करते समय उक्त दस्तावेजों में से कोई एक अपने पास रखना होगा। समाज कल्याण विभाग ने अब वरिष्ठ नागरिक पहचान पत्र बनाने बंद कर दिए हैं।

यात्रा के लिए ऐसे वरिष्ठ नागरिकों में महिलाओं के लिए 60 वर्ष और पुरुषों के लिए 65 वर्ष से अधिक उम्र निर्धारित की गई है। इस आयु सीमा के बाद ही उन्हें किराये में 50 फीसदी छूट मिलेगी। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग ने इस संदर्भ में पत्र जारी कर परिवहन महाप्रबंधक और जिला समाज कल्याण अधिकारी को दिशा निर्देश जारी किए हैं।

Advertisement