हरियाणा में पशुपालकों के लिए अच्छी खबर, जितने ज्यादा पशु, उतना मिलेगा ये फायदा

Advertisement

------------- Advertisement -----------

चंडीगढ़। पशु किसान क्रेडिट कार्ड योजना के तहत पशुपालकों को पशुओं की संख्या के अनुसार ऋण मिलेगा। बैंकों को एक लाख 60 हजार रुपये तक का ऋण बिना गारंटी मुहैया कराने के निर्देश दिए गए हैं। इससे अधिक राशि का ऋण लेने पर पशुपालकों को गारंटी देनी होगी। कुल तीन लाख रुपये तक का लोन इस योजना के तहत लिया जा सकता है।

हरियाणा में कुल आठ लाख किसानों के पशु किसान क्रेडिट कार्ड बनाने का लक्ष्य है। योजना के तहत एक गाय के लिए 40 हजार 783 रुपये, भैंस के लिए 60 हजार 249, भेड़-बकरी के लिए चार हजार 63, सुअर के लिए 16 हजार 337, अंडा देने वाली मुर्गी के लिए 720 रुपये और मुर्गी ब्रायलर के लिए 161 रुपये का ऋण दिया जाएगा।

Advertisement

कृषि एवं पशुपालन मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि पशुओं की संख्या के अनुसार पशु किसान क्रेडिट कार्ड जारी किया जाएगा। पशु किसान क्रेडिट कार्ड योजना (पीकेसीसी) एक महत्वकांक्षी योजना है, जिससे किसान अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाकर आत्मनिर्भर बन सकते हैं। 

उन्होंने पशुपालकों का आह्वान किया कि योजना का पूरा लाभ उठाएं। पशु किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए बैंक की तरफ से केवाईसी के लिए आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर कार्ड, नवीनतम पासपोर्ट फोटो उपलब्ध कराने होंगे। बता दें, सरकार का उद्देश्य किसानों व पशुपालकों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाना है। इसके अलावा किसानों का रुख पशुपालन की ओर भी झुकाव पैदा करना है।

Advertisement