बैंक की लाइन से मिलेगा छुटकारा, इस पोर्टल पर लें मिलने का समय, तुरंत होगा काम

पानीपत/यमुनानगर। बैंकों में रुपये निकालने के लिए उमड़ रही भीड़ को कम करने के लिए बैंकों ने पोर्टल लाॅन्च किया है। इसकी मदद से ग्राहक अगले दिन बैंक में निर्धारित समय पर रुपये जमा कर व निकाल सकते हैं। इसके लिए लोगों को बैंकों के बाहर लंबी लाइन में लग कर अपनी बारी का इंतजार नहीं करना पड़ेगा। इतना ही नहीं यदि आपका खाता आधार कार्ड व मोबाइल नंबर से लिंक है तो इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक की मदद से आप घर बैठे ही एक से 10 हजार रुपये भी ले सकते हैं।

ऐसे काम करता है पोर्टल

रुपये निकलाने व जमा कराने के लिए ग्राहकों को बैंकस्लॉट.हरियाणा.जीओवी.इन पोर्टल पर जाना होगा। जिसमें सर्कल चुनने के बाद अपने बैंक का आईएफएससी कोड डालना होगा। जिन्हें बैंक का आईएफएससी कोड नहीं पता वे सर्च भी कर सकते हैं। कोड डालते ही आपको अगली तारीख में बैंक जाने का समय चुनना है। यहां पर प्रत्येक 15 मिनट का एक स्लॉट होगा। जैसे 10 बजे के बाद 10.15 बजे, फिर 10.30 बजे। ग्राहक जो समय तय करेगा उसे उसी समय बैंक में जाना होगा।

प्रतिदिन कितने ग्राहकों ने बैंक आने का समय लिया है ये सब ब्रांच मैनेजर या अन्य कर्मचारी बैंक में बैठ कर ही डैशबोर्ड पर देख सकेंगे। यदि इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक की मदद से घर पर 10 हजार रुपये तक की राशि मंगानी है तो इसी पोर्टल पर ऑप्शन चुनना होगा। अपनी डिटेल भरने के बाद फाइल को डाउनलोड कर लें। जब डाकिया घर पैसे लेकर आएगा तो उसे मोबाइल में डाउनलोड की हुई फाइल दिखा दें।

बैंकों में लग रही हैं लाइनें

बैंकों में लोगों की भारी भीड़ जुट रही है। प्रदेश सरकार लोगों के खातों में वृद्धावस्था सम्मान भत्ता, विधवा पेंशन, दिव्यांग समेत अन्य लोगों की पेंशन डालती है। इसके अलावा केंद्र सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत भी लोगों के खाते में पैसे जमा किए जाते हैं। कोरोना वायरस के कारण बैंकों में लोगों को शारीरिक दूरी रखने की हिदायत दी जा रही है। वहीं बैंकों में एक बार में कम ही लोगों को एंट्री दी जाती है। रुपये निकलाने तक उन्हें बाहर ही खड़ा रहना पड़ता है।

पोर्टल काफी मददगार है : रणधीर सिंह

पीएनबी के लीड डिस्ट्रिक्ट मैनेजर रणधीर सिंह का कहना है कि उक्त पोर्टल पर एक दिन पहले ही बैंक जाने का समय लिया जा सकता है। इससे समय लेने वाले ग्राहकों को बैंक के बाहर लाइन में नहीं लगना पड़ेगा।

Advertisement