पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा का आंदोलन में मरे किसानों के परिवारों के लिए बड़ा ऐलान…..

चंडीगढ़। हरियाणा कांग्रेस ने राज्‍य की मनोहरलाल सरकार के खिलाफ मोर्चाबंदी तेज कर दी है। इसके साथ ही हरियाणा कांग्रेस ने किसान आंदोलन के दौरान मरे किसानों के परिवारों को दो-दो लाख रुपये की मदद देने की घोषणा की है। पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कांग्रेस विधायक दल की ओर से यह राशि देने की घोषणा की। दूसरी ओर, कांग्रेस महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सामाजिक सुरक्षा पेंशन में बढ़ोतरी नहीं किए जाने पर हरियाणा सरकार पर निशाना साधा।

उन्‍होंने 1 जनवरी से कम से कम पांच सौ रुपये मासिक पेंशन में बढ़ोतरी की मांग की है। सैलजा ने किसान आंदोलन के दौरान दिवंगत हुए लोगों के परिजनों को एक-एक करोड़ रुपये मुआवजा तथा परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग की है।

सुरजेवाला की मांग- हरियाणा सरकार सामाजिक पेंशन में वृद्धि करे

कांग्रेस विधायक दल के नेता के नाते हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने दिवगंत किसानों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है। यह आर्थिक मदद कांग्रेस विधायक दल की ओर से दी जाएगी। साथ ही हुड्डा ने गठबंधन सरकार के मुखिया से मांग की है कि दिवगंत किसानों के परिजनों को सरकारी नौकरी और अधिक से अधिक वित्तीय सहायता प्रदान की जाए।

कांग्रेस विधायक दल दिवंगत किसानों के परिजनों को दो-दो लाख देगा

हुड्डा ने कहा कि इनेलो-भाजपा सरकार के दौरान हुए कंडेला कांड के बाद जब हरियाणा में हमारी सरकार बनी थी, तब कंडेला कांड के दिवंगत किसान के परिवारों को आर्थिक मदद और नौकरियां दी गई थी। मौजूदा भाजपा-जजपा गठबंधन की सरकार को भी ऐसा ही करना चाहिये।

कांग्रेस महासचिव एवं पूर्व मंत्री रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि लोगों को उम्मीद थी कि सरकार 1 जनवरी से सामाजिक सुरक्षा पेंशन में बढ़ोतरी करेगी, मगर भाजपा-जजपा सरकार ने 28 लाख 87 हजार पेंशन धारकों की पेंशन बढ़ोतरी रोक दी है। यह बुजुर्गों और विधवाओं के साथ धोखा है। प्रदेश में 17 लाख 38 हजार बुजुर्ग पेंशन, 7 लाख 50 हजार विधवाएं, 1 लाख 74 हजार विकलांगता पेंशन के लाभार्थी हैं, जिन्हें नए साल के मौके पर भाजपा-जजपा ने झटका दिया है।

हरियाणा कांग्रेस की अध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी सैलजा ने कहा कि अहंकार का हमेशा अंत होता है। समय के साथ बड़े-बड़े शासकों को झुकाया गया है। भाजपा सरकार अहंकार में चूर है। सरकार को किसान-मजदूर नहीं, सिर्फ अपने साथी पूंजीपति दिखाई दे रहे हैं। टीकरी बार्डर, ¨सघु बार्डर, पलवल, पानीपत, यमुनानगर और जंतर मंतर पर किसानों के बीच पहुंच चुकी सैलजा ने कहा कि दिवंगत किसानों के परिजनों को नौकरी तथा एक करोड़ रुपये की मदद करे।

Advertisement