साढ़े 5 लाख रुपए के लिए मां ने 17 साल की बेटी को बेचा, ऐसे किया गया रेस्क्यू

पानीपत- हरियाणा में एक शर्मनाक मामला सामने आया है. यहां चंद पैसों के लालच में एक मां ने अपनी 17 साल की बेटी को 40 साल के शख्स को बेच दिया. मामला जब चाइल्ड लाइन रोहतक के पास पहुंचा, तो किशोरी को रेस्क्यू किया गया. मामले में बाल कल्याण समिति की चेयरमैन की शिकायत पर रोहतक सदर में केस दर्ज कराया गया है, क्योंकि घटनास्थल यमुनानगर का है. इसलिए केस को यमुनानगर ट्रांसफर किया गया है. पुलिस को दी शिकायत के मुताबिक, किशोरी को गांव धामड़ के झासू ने उसकी मां से खरीदा और उसकी शादी गांव के ही 40 वर्षीय विक्रम से करा दी.

पीड़िता ने चाइल्ड लाइन को इस बारे में किसी तरह से सूचना दी, तो वहां से मामला बाल कल्याण समिति रोहतक के पास पहुंचा. टीम गांव में पहुंची और जांच की, तो पता लगा कि किशोरी को खरीदकर लाया गया है. उसके साथ 12 वर्षीय एक अन्य बच्ची को भी लाया गया था. टीम ने किशोरियों को रेस्क्यू कर रोहतक के बाल आश्रम में भिजवा दिया है.

40 साल के शख्स ने कर ली शादी

दोनों बच्चियों ने बताया कि विक्रम अपने परिवार के दो सदस्यों के साथ यमुनानगर में आया था, यहां पर किशोरी के स्वजनों को झासू नाम के व्यक्ति ने 5 लाख 60 हजार रुपये दिए. जिसके बाद किशोरी को उसकी सहेली की 12 वर्षीय बहन के साथ रोहतक भेज दिया गया. यहां मंदिर में विक्रम ने उसकी मांग भरी और शादी कर ली.

जांच में जुटी पुलिस

अन्य लोगों के दबाव में किशोरी से भी विक्रम को जयमाला पहनाई गई. जिससे किशोरी व उसके साथ आई 12 वर्षीय बच्ची आहत हैं और अपने घर जाना चाहती हैं. इस पर टीम ने दोनों बच्चियों को रेस्क्यू किया. फिलहाल दोनों बच्चियों को बाल आश्रम में रखा गया है. इस मामले में रोहतक सदर में केस दर्ज हुआ था. अब इसे यहां पर ट्रांसफर किया गया. इस मामले में आरोपित झासू, विक्रम व किशोरी की मां पर केस दर्ज हुआ है. पुलिस फिलहाल मामले की जांच कर रही है.

Advertisement