सनसनीखेज वारदात! 3 दिन से फिरोजपुर के जिस प्रॉपर्टी डीलर को तलाश रही थी पंजाब पुलिस, हरियाणा के कुरुक्षेत्र में कार में मिला उसका शव

हरियाणा के कुरुक्षेत्र जिले में गांव बोधनी के निकट नहर किनारे एक इनोवा कार खड़ी मिली, जिसके अंदर एक व्यक्ति का लहूलुहान शव पड़ा था। पास में ही एक रिवाॅल्वर पड़ी थी। सूचना मिलते ही डीएसपी गुरमेल सिंह व एसएचओ सतीश कुमार की टीम मौके पर पहुंची। पहले लगा कि शायद आत्महत्या है, लेकिन जब जांच हुई तो पता चला चार गोलियां लगी हैं। उसकी रिवाॅल्वर से ही गोली मारकर हत्या की गई। घटना का पता चलते ही पत्नी और परिजन भी मौके पर पहुंचे। मृतक की जेब से मिले दस्तावेजों से उसकी शिनाख्त संदीप निवासी मानो चहल जीरा जिला फिरोजपुर पंजाब के रूप में हुई।

आढ़त के साथ डीलर का काम

मृतक संदीप सिंह की पत्नी कुलदीप कौर व परिजन भी पहुंच गए। कुलदीप के मुताबिक संदीप का आढ़त की दुकान के साथ-साथ प्रापर्टी डीलर का काम भी करता था। उसकी शादी वर्ष 2004 में हुई थी। उसके पास दो बेटियां व एक बेटा है। सन 2008 में फिरोजपुर छोड़कर वह और संदीप नयागांव रहने लगे।

नजदीकी का हो सकता है हाथ

संदीप को करीब चार गोलियां लगी हैं। पुलिस के मुताबिक, उसे काफी नजदीक से गोलियां मारी गई। गोली भी उसके लाइसेंसी रिवाल्वर से मारी हैं। ऐसे में यह स्पष्ट है कि उसके साथ कोई परिचित या नजदीकी दोस्त साथ होगा जिसने उसकी रिवाॅल्वर किसी बहाने से अपने हाथ में ली होगी। इसके बाद उसे गोली मारी।

पुलिस खंगाल रही फोन की कॉल डिटेल

डीएसपी गुरमेल सिंह के मुताबिक संदीप को नजदीक से गोलियां मारी हैं। संभवत बुधवार की रात को उसकी हत्या हुई। रात को ही किसी समय हत्यारे यहां शव छोड़कर निकले होंगे। रिवाॅल्वर संदीप के पास ही पड़ा मिला। इसे आत्महत्या का रूप देने का प्रयास भी हो सकता है। पुलिस कॉल डिटेल खंगाल रही है ताकि पता लग सके कि मौत से पहले उसकी किस-किस से बातचीत हुई। वहीं आसपास रास्तों पर लगे सीसीटीवी कैमरे भी खंगाले जा रहे हैं। जांच में एसएचओ सतीश कुमार व सब इंस्पेक्टर कृष्ण कुमार की टीम लगाई है।

मोहाली पुलिस ने थाने व चौकियों को एक दिन पहले की थी वीटी

23 जून से जब संदीप का अता-पता नहीं मिला तो परिजनों ने मोहाली पुलिस को सूचित किया। बताया जाता है कि मोहाली पुलिस ने वीटी कर आसपास के थाना चौकियों को भी सूचित किया। उसके गुमशुदा होने बारे बताया।

पत्नी की शिकायत पर हत्या का केस दर्ज, शक की सूई दोस्त पर

पुलिस ने कुलदीप की शिकायत पर हत्या केस दर्ज किया है। शक की सूई उसके पटियाला वाले दोस्त पर है। वहीं कुलविंद्र के मुताबिक उसका उक्त दोस्त के अलावा एक और साथी से करोड़ों का लेनदेन था। उसे शक है कि उक्त दोनों ने मिलकर उसकी हत्या की है।

दोस्त से पेमेंट लेने घर से गए थे

कुलदीप कैर के मुताबिक पिछले कई साल से उसके पति के पास देवीगढ़ पटियाला के एक युवक का आना-जाना था। उसके साथ संदीप की दोस्ती हो गई थी। 21 जून को संदीप घर से यह कहकर गया था कि उसे उक्त दोस्त के पास पेमेंट लेने जाना है। वह घर से अपनी लाइसेंसी रिवाॅल्वर व एक जोड़ी कपड़े की लेकर अपनी गाड़ी में चला गया था।

उसी रात उसकी करीब 8 बजे अपने पति से फोन पर बात हुई थी। तब उसने उसे बताया था कि वह उक्त युवक को उसके गांव छोड़कर पटियाला स्थित एक होटल रुका हुआ है। 22 जून को भी उसकी कई बार घर आने को लेकर फोन पर बातचीत हुई थी। तब संदीप ने बताया था कि जब काम पूरा होगा वह घर आ जाएगा। 23 जून को उसने संदीप सिंह व उसके दोस्त के फोन पर बात की थी।

शाम को फोन किया तो बातचीत में संदीप घबsराया हुआ था। रात सात बजे फिर उसकी संदीप से बात हुई। तब उसने बताया कि दोस्त के साथ कुछ ही देर में चंडीगढ़ के लिए चलने वाला है। करीब दो घंटे में पहुंच जाएगा लेकिन संदीप घर नहीं पहुंचा तो उसने जब पति के मोबाइल पर फोन किया तो वह बंद था। 24 जून की सुबह लगभग 4 बजे भी उसने संदीप को फोन किया लेकिन सेंपर्क नहीं हुआ।

संदीप के दोस्त से फोन मिलाकर पूछताछ की तो उसने बताया कि संदीप सिंह 23 जून की शाम 7 बजे ही चला गया था। उसके बाद उसके साथ कोई संपर्क नहीं हुुआ। गुरुवार को पुलिस से उसकी मौत बारे खबर मिली।

Advertisement