पानीपत में बहन से झगड़ा करने पर पिता ने डांटा तो बेटे ने उठाया खौफनाक कदम

पानीपत। हरियाणा के पानीपत सिटी में मामूली सी बात पर एक बेटे ने मौत को गले लगा लिया। उसे पिता की डांट सहन नहीं हुई। बहन से झगड़ने पर बेटे को पिता ने डांट दिया था। इसके बाद उसने खौफनक कदम उठाया। नंगे पांव घर से निकलकर नहर में छलांग लगा दी। बेटे की तलाश कर रहे पिता जब नहर पर पहुंचे तो पहचान नहीं सके। घर लौट आए। बाद में पहुंची मां ने कपड़ों से पहचाना। बेटा इतना बड़ा कदम उठा लेगा, पिता ने ये सोचा भी नहीं था।

मामला कुटानी रोड स्थित चावला कालोनी का है। 20 वर्षीय देवेंद्र आइबी कालेज से बीए कर रहा था। चौथे नंबर पर छोटे बेटे को पिता पूर्ण ने मोबाइल दिलाया था। 12 फरवरी की शाम सात बजे बड़ी बहन कोमल ने फोन मांगा तो भाई-बहनों में मामूली कहासुनी हो गई। पिता को बेटी के प्रति देवेंद्र का व्यवहार ठीक नहीं लगा तो डांट दिया। देवेंद्र नंगे पांव ही सीढिय़ों के रास्ते नीचे उतर गया।

बिना चप्पल और स्वेटर पहने घर से निकलकर कहीं चला गया। देर शाम तक घर नहीं लौटा तो स्वजनों ने तलाश शुरू कर दी। दिल्ली, करनाल, अंबाला, कुरुक्षेत्र तक ढूंढ़ा पर कहीं नहीं मिला। कल नहर में एक युवक का शव मिलने की खबर लगी तो पिता पूर्णचंद सामान्य अस्पताल के शवगृह पहुंचे। पानी में फूला शव देखा तो अपने ही बेटे को नहीं पहचान पाए। अगले दिन मां शकुंतला शवगृह पहुंची।

बेटे के कपड़ों और कड़े से उसकी पहचान की। स्वजनों ने बताया कि गुमशुदगी का मामला दर्ज कराने पर भी देवेंद्र का कोई भेद नहीं लगा। परिवार की महिलाओं को कुछ बाबाओं ने बेटे के जिंदा होने की बात कही। कभी दिल्ली तो कभी कुरुक्षेत्र में होने के दावे किए। परिवार को ये अहसास भी नहीं था कि देवेंद्र अब हमेशा के लिए घर छोड़कर जा चुका है।

Advertisement