Fastag: क्या है फास्टैग और इसे कहां से ले सकते हैं? जानिए सबकुछ

नई दिल्ली. 1 दिसंबर 2019 से राष्ट्रीय राजमार्ग से गुजरने वाले सभी चार पहिया वाहनों पर फास्टैग (FASTag) लगाना अनिवार्य कर दिया था. दरअसल, फास्टैग इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक है. इसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) का इस्तेमाल होता है. फास्टटैग रिचार्ज होने वाला प्रीपेड टैग है जो आपको अपनी गाड़ी के विंडशील्ड पर अंदर की तरफ से लगाना पड़ता है.

फास्टटैग कैसे करता है काम?

जैसे ही आपकी गाड़ी टोल प्लाजा के पास आती है, तो टोल प्लाजा पर लगा सेंसर आपके वाहन के विंडस्क्रीन पर लगे फास्टैग को ट्रैक कर लेता है. इसके बाद आपके फास्टटैग अकाउंट से उस टोल प्लाजा पर लगने वाला शुल्क कट जाता है. इस तरह आप टोल प्लाजा पर रुके बगैर शुल्क का भुगतान कर पाते हैं. वाहन में लगा यह टैग आपके प्रीपेड खाते के सक्रिय होते ही अपना काम शुरू कर देगा. वहीं, जब आपके फास्टैग अकाउंट की राशि खत्म हो जाएगी, तो आपको उसे फिर से रिचार्ज करवाना पड़ेगा.


क्या फास्टटैग अनिवार्य है?

हां, 1 दिसंबर 2019 से फास्टटैग अनिवार्य हो चुका है. अगर फास्टटैग वाहन से गायब है, तो ड्राइवर को टोल टैक्स का दोगुना भुगतान करना होगा.

फास्टटैग कैसे खरीदें?

राष्ट्रीय राजमार्ग टोल प्लाजा और 22 विभिन्न बैंक से फास्टटैग स्टिकर खरीदे जा सकते हैं. यह पेटीएम, अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसे ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर भी उपलब्ध हैं. इसके अलावा Fino Payments Bank और Paytm Payments Bank भी फास्टटैग जारी करते हैं.

फास्टटैग रिचार्ज कैसे करें?

  • यदि फास्टटैग NHAI प्रीपेड वॉलेट से जुड़ा है, तो इसे चेक के माध्यम से या यूपीआई/डेबिट कार्ड/क्रेडिट कार्ड/NEFT/नेट बैंकिंग आदि के माध्यम से रिचार्ज किया जा सकता है.
  • अगर बैंक खाते को फास्टटैग से लिंक होता है, तो पैसे सीधे खाते से काट लिया जाता है.
  • अगर Paytm वॉलेट को फास्टटैग से लिंक होता है, तो पैसे सीधे वॉलेट से काट लिया जाता है.

क्या हम एक फास्टटैग का उपयोग दो या अधिक वाहनों के साथ कर सकते हैं?

नहीं, दो वाहनों के लिए दो अलग फास्टटैग खरीदना होगा.

Advertisement