राष्ट्रपति से सम्मानित होने की फर्जी फोटो पोस्ट की, साइबर फ्रॉड में जेल

Advertisement

------------- Advertisement -----------

मथानिया. जोधपुर जिले में रहने वाले 20 साल के एक लड़के पर फेमस होने का ऐसा भूत सवार हुआ कि उसने राष्ट्रपति की फोटो से छेड़छाड़ कर उसे सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया। लड़के ने फोटो एडिट कर खुद को राष्ट्रपति के हाथों सम्मानित करवा लिया, उसे बधाई संदेश मिलने लगे, अखबारों में खबर भी छप गई, लेकिन ये सब ज्यादा देर तक नहीं चल सका। दो दिन बाद ही साइबर फ्रॉड के मामले में पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

जोधपुर के पास तिंवरी कस्बे में रहने वाले राहुल राठी ने अपने फेसबुक अकाउंट से एक फोटो पोस्ट की। इसमें उसे राष्ट्रपति के हाथों सम्मान मिलते हुए दिखाया गया। इसके बाद गांव के लोगों के मन में राहुल के प्रति इज्जत बढ़ गई। उसे बधाई देने वालों की कतार लग गई। इस बीच गांव के किसी व्यक्ति को इंटरनेट पर वह फोटो मिल गई, जिसे एडिट कर राहुल ने नकली फोटो पोस्ट की थी, उसने पुलिस को इसकी सूचना दे दी।

Advertisement

एक तरफ गांव के लोग राहुल के अभिनंदन की तैयारी कर रहे थे तो दूसरी तरफ पुलिस उसे गिरफ्तार करने की। इसके बाद पुलिस की एक टीम अचानक राहुल के घर पहुंची और उसे पूछताछ के लिए थाने ले आई। उसने अपना गुनाह कबूल लिया है।

दिल्ली के व्यक्ति को 200 रुपए देकर एडिट करवाई फोटो

राहुल ने पुलिस को बताया कि उसने फेमस होने और अखबारों में अपनी फोटो छपवाने के लिए सबसे झूठ कहा था। राहुल ने बताया कि उसने दिल्ली के किसी व्यक्ति को 200 रुपए पेटीएम कर प्रशस्ति पत्र तैयार करवाया था। फोटो के साथ उसने कैप्शन लिखा, भारतवर्ष के महामहिम राष्ट्रपति महोदय के कर कमलों से दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन में मुझे सम्मानित किया गया, यह सम्मान मुझे साइबर सुरक्षा में विशिष्ठ योगदान के लिए मिला है। मेरे जीवन में यह पल अविश्वसनीय हैं।

राष्ट्रपति की आधिकारिक वेबसाइट से दूसरे के सम्मान की फोटो को किया एडिट

पुलिस की पड़ताल में सामने आया कि राहुल राठी पहले भी इस तरह का फर्जीवाड़ा कर चुका है। इससे पहले उस पर कुछ लोगों की सोशल मीडिया आईडी हैक करने का आरोप भी लगा था, लेकिन इस बार उसने देश के राष्ट्रपति की फोटो में छेड़छाड़ की थी, जो उनकी आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध थी, इसलिए वह फंस गया।

Advertisement