आबकारी अधिनियम किया गया और सख्त, बढाई गई सजा व जुर्माना

इंडिया ब्रेकिंग/करनाल रिपोर्टर (ब्यूरो)27 अप्रैल 2020 पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र सिंह भौरिया ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बदलाव किये गये आबकारी अधिनियम के बारे में बताया है कि समाज मे ऐसे बहुत से लोग है जो अवैध शराब बनाते व बेचते हैं। जिससे वह आम लोगों की जान से खिलवाड करते हैं। व सरकार को भी इससे राजस्व में घाटा होता है। इसी को मध्यनजर रखते हुये सरकार द्वारा आबकारी अधिनियम में कुछ कडे़ व जरूरी बदलाव किये गये हैं जो इस प्रकार हैं-

धारा 15(सी) (1) अगर कोई व्यक्ति भट्ठी पर अवैध शराब तैयार करता है तो उसको कम से कम 02 साल की सजा व जुर्माना कम से कम 02 लाख वसूला जायेगा।

2) अगर कोई व्यक्ति लाहन तैयार करता है या लाहन का कारोबार करता है तो उससे कम से कम 01 साल की सजा व 05 लाख रूपये जुर्माना वसूला जायेगा।

3) दूसरे राज्य में बनी लाईसेंसी शराब लाकर बेचने पर 12 बोतल तक कम से कम 06 महिने सजा व 50 हजार रूपये जुर्माना और 12 बोतल से अधिक पर कम से कम 02 साल की सजा व 02 लाख रूपये जुर्माना वसूला जायेगा।

4) विदेशी शराब के आयात पर सीमा शुल्क जमा ना करने पर कम से कम 06 महिने की सजा व 50 हजार रूपये जुर्माना वसूला जायेगा।

धारा 62, 25 साल से कम आयु के व्यक्ति को शराब बेचना या उसको या किसी महिला को नौकरी पर रखने पर 05 हजार से 50 हजार तक जुर्माना वसूला जायेगा।

धारा 63 मानव उपयोग में प्रयोग शराब में अगर कोई मिलावट करता है तो कम से कम 03 साल सजा व 10 हजार रूपये जुर्माना जिसको बढाकर 05 साल सजा व जुर्माना 50 हजार रूपये से 02 लाख रूपये तक जुर्माना वसूला जायेगा।

धारा 63ए अगर कोई व्यक्ति बिना उपयोग की शराब व प्रिंटड लेवल क्रोक रखता है तो आबकारी अधिनियम धारा 24ए के तहत सजा 06 महिने से 02 साल व जुर्माना 50 हजार से 02 लाख रूपये का जुर्माना वसूला जायेगा।

धारा 64 लाईसेंस प्राप्त निर्माता,या उसके नौकर द्वारा धोखाधडी की जाती है तो सजा एक साल व 10 हजार रूपये जुर्माणा वसूला जायेगा।

धारा 65 लाईसेंस,पास या परमिट का उत्पादन करने में विफल रहना व लाईसेंस प्राप्त परिसर में अव्यवस्थ्ति आचरण करना कम से कम सजा 06 महिने व 05 हजार रूपये से 50 हजार रूपये जुर्माणा वसूला जायेगा।

धारा 72 के अंर्तगत सभी अपराधों की सजा दो साल होगी व सभी अपराध गैर जमानती व सज्ञेंय हैं।

धारा 72ए अगर कोई भी व्यक्ति शराब में मिलावट करता है और वो मिलावट मृत्यु का कारण बनता है तो उसे उम्र कैद व 10 लाख रूपये जुर्माना, अपंगता/दिल की बीमारी का कारण बनता है तो उससे 06 साल से उम्र कैद व 05 लाख तक जुर्माना, ओैर कोई बीमारी का कारण बनता है तो 01 साल सजा व 02 लाख रूपये तक जुर्माना वसुला जायेगा। अगर कोई चोट नही तो सजा 06 महिने ओैर जुर्माना 01 लाख रूपये तक वसूला जायेगा।

Advertisement