दुबई के अस्पताल ने पेश की इंसानियत की मिसाल, भारतीय कोरोना मरीज का 1.52 करोड़ का बिल किया माफ़

Advertisement

------------- Advertisement -----------

कोरोना महामारी के बीच दुबई के एक अस्पताल ने इंसानियत का एक अद्भुत उदाहरण पेश किया है. अस्पताल ने कोरोना से पीड़ित एक भारतीय के इलाज का क़रीब डेढ़ करोड़ रुपए का बिल माफ कर दिया. दरअसल, मरीज आर्थिक रुप से कमजोर था और बिल भरने की स्थिति में नहीं था.

मिली जानकारी के मुताबिक, तेलंगाना के जगतियाल जिले के रहने वाले हैं 42 साल के ओडनाला राजेश 23 अप्रैल को तबीयत खराब होने के कारण दुबई के अस्पताल में भर्ती हुए थे. जांच के बाद पता चला कि वो कोरोना संक्रमित हैं. राजेश की हालत गंभीर थी. लिहाजा उन्हें लंबा इलाज करना पड़ा. वो करीब 80 दिनों तक दवा खाते रहे. ठीक होने के बाद जब उनके हाथ में बिल आया तो उनके होश उड़ गए.

Advertisement

अस्पताल प्रशासन ने उन्हें करीब एक करोड़ 52 लाख रुपए का बिल थमाया था. राजेश की आर्थिक अच्छी नहीं थी. ऐसे में वो बिल भरने में सक्षम नहीं थे. उन्हें समझ नहीं आ रहा था कि वो क्या करें. तभी दुबई में भारतीय दूतावास के वॉलंटियर सुमनाथ रेड्डी को उनके लिए फरिश्ता बनकर आए.

रेड्डी राजेश के मामले को दुबई में मजदूर मामलों के भारतीय राजदूत हरजीत सिंह के पास लेकर गए. जिसके बाद सिंह ने दुबई अस्पताल को एक खत लिखकर अनुरोध किया कि वो इंसानियत के नाते राजेश का बिल माफ कर दें. अस्पताल प्रशासन ने इस पर सकारात्मक जवाब देते हुए राजेश का बिल माफ कर दिया.

अस्पताल ने राजेश का सिर्फ बिल ही माफ नहीं किया. बल्कि, डिस्चार्ज करने के बाद उनकी आर्थिक मदद करते हुए उनके लिए दुबई से भारत का एक फ्री टिकट भी मुहैया कराया. इस तरह राजेश 14 जुलाई को अपने वतन भारत वापस लौटे सके. फिलहाल वो हैदराबाद में 14 दिन के क्वारंटीन पर हैं और स्वास्थ हैं.

Advertisement