दिल्ली में 8 फरवरी को 70 सीटों पर होगा मतदान, 11 को आएंगे नतीजे !

दिल्ली में 8 फरवरी को 70 सीटों पर होगा मतदान, 11 को आएंगे नतीजे !

आप के लिए कांटे की लड़ाई तो भाजपा और कांग्रेस में होगी दिल्ली में वापसी की जंग !

दिल्ली : आखिरकार आज दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 का इंतजार खत्म हो ही गया है। निर्वाचन आयोग ने आज हुई प्रेस कांफ्रेंस में दिल्ली विधानसभा चुनाव की तारीखों का एलान कर दिया है। मुख्गय चुनाव आयुक्त के एलान के मुताबिक, आगामी 8 फरवरी को मतदान होगा और 11 फरवरी को नतीजे घोषित कर दिए जाएंगे। चुनाव की तारीखों के एलान के साथ दिल्ली में चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है जिसके बाद अब दिल्ली सरकार कोई भी जनहित का फैसला नहीं ले पायेगी ! 2020 के विधानसभा चुनाव जहाँ एक तरफ आम आदमी पार्टी द्वारा करवाए गए विकास कार्यो का इम्तिहान है वहीं कांग्रेस और भाजपा एक बार फिर से दिल्ली की गद्दी पर सत्ता सम्भालने को बेकरार है ! आपको बतादें कि दिल्ली में इस बार तीनो पार्टियाँ ही अपनी अपनी जीत का दम भर रहीं है लेकिन इस बार चुनाव की हवा और फिजा किस और जायेगी इस तरफ राजनितिक गलियारों में खासी चर्चा है !

दिल्ली में चुनाव की मुख्य गतिविधियाँ :

  • चुनाव आयोग के मुताबिक मतदान प्रक्रिया के चरण में 14 जनवरी को नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा। 21 जनवरी को नाम वापस लेने के आखिरी तारीख होगी।
  •  आने वाली 8 फरवरी को होने वाले मतदान में दिल्ली के 1.46 करोड़ मतदाता नई सरकार चुनेंगे।
  • दिल्ली में 13750 बूथों पर वोटिंग होगी और 2689 जगहों पर मतदान होगा।
  • चुनावो में 90,000 कर्मचारी चुनाव प्रक्रिया में जुटेंगे और चुनाव खर्च को लेकर सख्त नियमों का पालन किया जाएगा।
  • इस बार वरिष्ठ नागरिकों और दिव्यांगों के लिए खास इंतजाम किए गए हैं। इन्हें घर से ही वोटिंग की सुविधा मिलेगी।
  • वर्तमान में 70 सदस्यीय दिल्ली विधानसभा में AAP के पास 62 विधायक और भाजपा के पास चार विधायक हैं, जबकि एक सीट पर कांग्रेस को जीत मिली है।
  • दक्षिणी दिल्ली में गायक मोहित चौहान, पूर्वी दिल्ली में पूर्व मैराथन एथलीट सुनीता गोदारा व दो जगहों पर कब्बड्डी के खिलाड़ी आइकॉन बनाए गए हैं।

बता दें कि वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की 70 में से 67 सीटें जीतकर इतिहास रचा था, जबकि भारतीय जनता पार्टी ने सिर्फ तीन सीटें हासिल की थीं तो 15 सालों तक दिल्ली पर राज करने वाली कांग्रेस शून्य पर सिमट गई थी।

आपको बतादें कि दिल्ली में 1.47 करोड़ मतदाता हैं इस बाबत दिल्ली चुनाव के लिए कई विशेष इंतजाम किए गए हैं। बता दें कि पिछले विधानसभा चुनाव के बाद लोकसभा चुनाव में वोट फीसद कम हो गया था। इस बार मतदान बढ़ाने के लिए कई तरह के कदम उठाए गए हैं। इस बार विधानसभा चुनाव में मतदान का प्रतिशत बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं। ऐसे मतदान केंद्र व विधानसभा क्षेत्र जहां मतदान फीसद कम रहा था, वहां अधिक ध्यान देंगे। उन इलाकों में नुक्कड़ नाटक, वॉलेंटियर व बीएलओ (बूथ लेवल अफसर) भेजकर लोगों को मतदान के लिए प्रेरित किया जाएगा। सोशल मीडिया पर भी अभियान चलाया जा रहा है। इसके अलावा रेडियो व प्रिंट मीडिया में जागरूकता फैलाते रहेंगे। सभी जिलों में अलग-अलग आइकॉन नियुक्त किए गए हैं, जिनके माध्यम से लोगों को मतदान के प्रति जागरूक किया जाएगा। दक्षिणी दिल्ली में गायक मोहित चौहान, पूर्वी दिल्ली में पूर्व मैराथन एथलीट सुनीता गोदारा व दो जगहों पर कबड्डी के खिलाड़ी आइकॉन बनाए गए हैं। इस तरह अलग-अलग प्रोफाइल के लोग जागरूकता अभियान से जोड़े गए हैं।

Advertisement