स्पेशल परमिशन लेकर DC निशांत यादव ने सेक्टर 13 में करवाया सडक रिपेयर का काम

इंडिया ब्रेकिंग/करनाल रिपोर्टर (ब्यूरो) करनाल 23 अप्रैल, सरल हरियाणा पोर्टल पर अनुमति लेने के बाद नगर निगम द्वारा शहर के सैक्टर-13 की सभी आंतरिक सड़कों के सौंदर्यकरण का कार्य तेजी से करवाया जा रहा है तथा सप्ताह भर में इसे निपटाने की कोशिश रहेगी। स्थानीय लेबर सोशल डिस्टैसिंग में रहकर इस कार्य को कर रही है। उपायुक्त एवं नगर निगम आयुक्त निशांत कुमार यादव ने गुरूवार को सैक्टर-13 में किए जा रहे कार्य का निरीक्षण कर इसकी प्रगति देखी तथा मौके पर मौजूद निगम अधिकारियों को तसल्ली से तथा काम को जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिए।

उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने बताया कि सैक्टर-13 की सड़कों पर कारपेटिंग के इस कार्य का कोरोना के प्रकोप से पहले करीब सवा करोड़ के अनुमान तैयार किए गए थे। कोविड-19 के चलते इसमें विलम्ब हो रहा था और सड़कें क्षतिग्रस्त हो रही थी। इसी बात को देखते नागरिकों की सहूलियत के लिए सरकार के पोर्टल से परमिशन लेकर काम शुरू करवाया गया है। लॉकडाउन के चलते सड़कों पर आवागमन कम होने से काम तेजी से हो सकेगा।

उन्होंने बताया कि सौंदर्यकरण के कार्य में सड़क निर्माण की आधुनिक मशीने लगाई गई हैं। पहले सड़कों की मिलिंग की जा रही है, जिसमें तारकोल यानि बिटुमिन युक्त पुरानी बजरी को एक निश्चित सतह तक उखाड़ा जाता है, उसके बाद उस पर 50 एम.एम. बिटुमिन मेकेडम की सतह और फिर 25 एम.एम. की प्रिमिक्स कार्पेटिंग की जा रही है। कुल 4 किलोमीटर लम्बाई की सड़कों को सुदृढ़ किया जाएगा। सड़कों को सुदृढ़ किए जाने से सैक्टर-13 के नागरिकों को सुविधा मिलेगी

उपायुक्त ने बताया कि बेमौसमी बारिश तथा नागरिकों द्वारा गाडिय़ां धोने से सड़कों पर एकत्र पानी बिटुमिन को खराब करता है, जिससे सड़कें क्षतिग्रस्त हो जाती हैं। इस समस्या के हल के लिए नगर निगम आगामी समय में रोड गली खोलने के लिए एक टैण्डर लगाने पर विचार कर रहा है, ताकि सड़कों पर आया पानी उसके जरिए नालों में जा सके और सड़कों को नुकसान न हो। इसी प्रकार शहर के सबसे पुराने सैक्टर-13 में ही कालड़ा मार्किट के सौंदर्यकरण का कार्य भी किया जाना है, इसका अनुमान तैयार कर लिया गया था, लेकिन कोरोना के हालात को देखते काम अभी शुरू नहीं किया गया है। इसमें नई ग्रिल व फुटपाथ बनाए जाने का कार्य शामिल है।

इस मौके पर नगर निगम के कार्यकारी अभियंता सतीश शर्मा, सहायक अभियंता सुनील भल्ला तथा जूनियर इंजीनियर वरूण शर्मा भी मौजूद थे।

Advertisement