बैठक में DC निशांत यादव ने गढ्ढें ना भरने पर प्रतिनिधि को लगाई फटकार, पब्लिक हैल्थ के अधिकारियों को भी दी नसीहत

इंडिया ब्रेकिंग/करनाल रिपोर्टर (ब्यूरो) करनाल 12 अक्तूबर, घरेलू उपभोक्ताओं को पाईप के जरिए कूकिंग गैस की आपूर्ति मुहैया करवाने के मकसद से शहर में लाईने बिछा रही इंद्र्प्रस्थ गैस लिमिटेड के प्रतिनिधि को उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने सोमवार को लघु सचिवालय के सभागार में आयोजित सड़क सुरक्षा समीति की बैठक में अच्छी-खासी फटकार लगाई और कहा कि पाईप लाईनो के लिए खोदे गए गढ्ढों को नहीं भरा जा रहा, कोई बड़ी दुर्घटना हुई तो कम्पनी के जनरल मैनेजर के खिलाफ एफ.आई.आर. दर्ज होगी।

इसी तरह के एक अन्य एजेंडा पांयट जो घरौंडा टाऊन से सम्बंधित था, में भी उपायुक्त एवं सड़क सुरक्षा समीति के अध्यक्ष ने जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को खरी-खोटी सुनाते कहा कि पाईप लाईन बिछाते समय सड़क काटकर रख देते हैं, लेकिन उसकी रिस्टोरेशन नहीं करते। जबकि इस तरह के कार्यों के लिए बनाए गए एस्टीमेट में यह सब शामिल होना चाहिए और उसके बाद ठेकेदार काम पूरा ना करे तो उसकी पेमेंट काटें। इस मामले को लेकर उन्होंने इंजीनियरिंग विंग से जुड़े और बैठक में उपस्थित तमाम अधिकारियों से भी कहा कि वे भविष्य में इस चीज का पूरा ध्यान रखें।

इस बार की बैठक हालांकि पिछली बैठकों की तुलना में इसलिए काफी सार्थक रही, क्योंकि गत मीटिंगों से लम्बित चले आ रहे पॉथहोल यानि गढ्ढे भरने, सड़क की मरम्मत, यातायात को बाधित कर रहे बिजली के खम्बे हटाने, सड़कों पर साईनेज व लाईटें तथा कैटआई जैसे मामलो में सम्बंधित विभागों के अधिकारियों ने सक्रियता दिखाकर वर्क डन की रिपोर्ट दी। सभागार में लगी स्क्रीन पर किए गेए काम की फोटो से इसकी पुष्टिï भी हो रही थी, लिहाजा काफी बिन्दुओं को ड्रॉप किया गया।

फिर भी कुछेक बिन्दुओं को पेंडिंग रखकर उपायुक्त ने सम्बंधित अधिकारियों को अगली मीटिंग तक काम कम्पलीट करने के निर्देश दिए। इसी के चलते पिछली बैठक में उपायुक्त की ओर से नगर निगम व सभी नगर पालिका क्षेत्रो में सम्बंधित अधिकारियों को एक-एक मॉडल रोड बनाने के लिए कहा गया था, इसमें आशा के अनुकूल प्रोग्रेस हुई। परिणामस्वरूप नीलोखेड़ी, असंध और निसिंग में प्रगति पर चल रहे कार्यों को छोड़कर करनाल की वैस्टर्न बाईपास रोड, सफदो-असंध-कैथल रोड, एच.एस.वी.पी. की सैक्टर 4-5 डिवाईडिंग रोड, मार्किटिंग बोर्ड से पधाना से गांगर रोड, घरौंडा की रेलवे रोड तथा तरावड़ी की पतंजलि स्टोर से कॉपरेटिव बैंक रोड को मॉडल बनाया गया।

गत लम्बित बैठको से लेकर पिछले मास सितम्बर की बैठक तक करीब 58 मामलो में से 43 मामलो का समाधान विभिन्न विभागों द्वारा कर दिया गया तथा एक दर्जन के करीब मामलो को उपायुक्त की ओर से अगली मीटिंग तक पेंडिंग रखा गया है।

बैठक में गैर-सरकारी सदस्यों ने कुछ नए मुद्दे उठाकर उपायुक्त को उनकी जानकारी दी। सदस्य लाजपत राय चौधरी ने बताया कि मेला राम स्कूल के आगे से गुजर रही बिजली की तारे पुरानी हो चुकी हैं, जिनसे दुर्घटना का अंदेशा रहता है, यूएचबीवीएन से इन्हें बदलवाया जाए। सदस्य प्रमोद गुप्ता ने बताया कि शहर में मुख्य क्रॉसिंग जंक्शन पर रैड लाईट जम्पिंग और रोंग साईड राईडिंग के पुलिस चालान नहीं कर रही। इस पर उपायुक्त ने ट्रैफिक पुलिस इंचार्ज को निर्देश दिए कि वे इस शिकायत को लेकर ज्यादा से ज्यादा चालान करें और अगली मीटिंग में उनका डाटा लेकर आएं।

सदस्य संदीप लाठर ने बताया कि कर्णेश्वर मंदिर के अपॉजिट एन.एच. की ओर से एक एग्जिट पांयट की परम आवश्यकता है, इससे दिल्ली से करनाल में कोर्ट, सचिवालय, जिला अस्पताल व केसीजीएमसी आने वालों को बड़ी राहत मिलेगी। उपायुक्त ने मीटिंग में बैठे एन.एच. के अधिकारी को कहा कि वे इस काम को करवाएं। उपायुक्त ने नगर निगम के एई सुनील भल्ला को निर्देश दिए कि ट्रैफिक पुलिस सहायता के लिए शहर में 5 जगहों पर बूथ बनाने का जल्दी टैण्डर लगाकर काम शुरू करें। नए मुद्दों को लेकर उपायुक्त ने सभी सदस्यों से कहा कि वे रोड सेफ्टी को लेकर जहां भी कोई समस्या देखें, तो उसकी जानकारी, रोड सेफ्टी मीटिंग केआरएल एट जीमेल डॉट कॉम पर भेजें, ताकि उस पर कार्रवाई की जा सके।

मीटिंग का एजेंडा आर.टी.ए. इंस्पैक्टर जोगिन्द्र ढुल ने प्रस्तुत किया। रोड सेफ्टी की मीटिंग में असंध, करनाल, घरौंडा,व इन्द्री के उपमण्डलाधीश क्रमश: साहिल गुप्ता, आयुष सिन्हा, डॉ. पूजा भारती, सुमित सिहाग, प्रशिक्षणाधीन एच.सी.एस. अधिकारी मयंक अग्रवाल, विभिन्न विभागों के अधिकारी के अतिरिक्त गैर-सरकारी सदस्या रमन मिढ्ïढा, राजन लाम्बा व जे.आर. कालड़ा भी मौजूद रहे।

Advertisement