लॉकडाउन में भारी-भरकम क्रेडिट कार्ड बिल चुकाने की हो रही है चिंता तो ये हैं आसान उपाय

कोरोना संकट और लॉकडाउन के चलते हममें से बहुत सारे लोगों के सामने नकदी का संकट बढ़ा है। इसके चलते क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल ऑनलाइन से ऑफलाइन खरीदारी में तेजी से बढ़ा है। अगर आपके द्वारा भी लॉकडाउन के दौरान क्रेडिट कार्ड से जमकर खरीदारी हो गई है और अब भारी-भरकम बिल चुकाने की चिंता हो रही है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। हम आपको कुछ आसान वित्तीय उपाय बता रहे हैं जिसके अपनाकर आप अपने क्रेडिट कार्ड का बिल को आसानी से चुका सकते हैं।

बैलेंस ट्रांसफर का लें सहारा

क्रेडिट कार्ड के भारी-भरकम बिल चुकाने के लिए आप बैलेंस ट्रांसफर की सुविधा का सहारा लें सकते हैँ। आप बैलेंस ट्रांसफर के जरिए एक क्रेडिट कार्ड पर बकाया रकम को दूसरे कार्ड पर ट्रांसफर कर सकते हैं। यही नहीं इसके जरिये आप कई कार्ड पर बकाया रकम को एक कार्ड में ही ट्रांसफर कर सकते हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक, अगर आप बकाया रकम को दूसरे कार्ड पर शिफ्ट करते हैं तो आपको अलग क्रेडिट पीरियड मिल जाता है। ऐसे में बिना ब्याज में इजाफा हुए कर्ज की राशि को अदा करने के लिए समय मिल जाता है।

Investment Stock Photos, Pictures & Royalty-Free Images - iStock

निवेश की रकम से कर सकते हैं बिल का भुगतान

क्रेडिट कार्ड बिल को चुकाने के लिए आप अपने कुछ निवेश के हिस्से का इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर, आपका निवेश इस ब्याज के मुकाबले ज्यादा रिटर्न नहीं दे पा रहा है तो यही बेहतर है कि आप उसे निकाल कर बिल दे दें।

टॉप-अप लोन की सुविधा

अगर, आपने पहले से होम लोन ले रखा है तो उस पर टॉप-अप लोन कम ब्याज में ले कर क्रेडिट कार्ड बिल का बकाया चुका सकते हैं। इसकी वजह यह है कि होम लोन पर 10 फीसदी से ज्यादा ब्याज नहीं होता है और आप उसे आसानी से पहले से चल रही किस्तों में ही जुड़वा सकते हैं।

Why is central bank interest rate so low? But not for SME's ...

कम ब्याज पर पर्सनल लोन भी एक बेहतर विकल्प

क्रेडिट कार्ड के बकाया रकम पर बैंक 24 फीसदी से 48 फीसदी तक ब्याज वसूलते हैं। इस मोटे ब्याज से बचने के लिए आप बैंक से पर्सनल लोन ले सकते हैं। पर्सनल लोन पर 12 से 24 फीसदी तक ही ब्याज लगता है।

Advertisement