कोरोना का असर प्लेटफार्म टिकट पर भी, कई गुना महंगी हुई टिकट

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के चलते रेलवे स्टेशनों पर भीड़ को नियंत्रण में करने के लिए रेलवे ने प्लेटफार्म टिकट की दरों में कई गुना बढ़ोतरी कर दी है। देश के ज्यादातर स्टेशनों पर टिकट की दरें 10 रुपये से बढ़ाकर 50 रुपये कर दी गई है। मंगलवार रात 12 बजे के बाद नई दरें लागू कर दी गईं। वहीं, संक्रमण से बचने के लिए यात्री भी अब ट्रेनों में सफर करने से परहेज कर रहे हैं। यहीं वजह है कि प्रतिदिन 25 से 30 प्रतिशत आरक्षित टिकट रद्द कराए जा रहे हैं। टिकट बुकिंग में भी 5 से 7 प्रतिशत की कमी आ गई है।

स्टेशनों पर यात्रियों की भीड़ को देखते हुए नई दरें निर्धारित की गई हैं। यह दरें 15 से 50 रुपये के बीच रखी गई हैं। दिल्ली, मुंबई, वडोदरा, अहमदाबाद, रतलाम, राजकोट, भावनगर, दानापुर समेत आदि रेलमंडलों के बड़े स्टेशनों पर प्लेटफार्म टिकट 50 रुपये की है। कुछ छोटे स्टेशनों पर प्लेटफार्म टिकट में कोई विशेष परिवर्तन नहीं हुआ है।

इसके अलावा कोरोना वायरस की वजह से ट्रेनें निरस्त होने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। सेंट्रल रेलवे ने कई रूट की ट्रेन निरस्त करने की घोषणा की है। 22 और 29 मार्च को ट्रेन संख्या 11206 निजामुद्दीन-लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस निरस्त रहेगी। इसी तरह ट्रेन संख्या 12262 हावड़ा-मुंबई दुरंतो 24 व 31 मार्च को निरस्त रहेगी। ट्रेन संख्या 22222 निजामद्दीन-मुंबई राजधानी 21, 24, 26 और 31 मार्च को निरस्त रहेगी। उत्तर रेलवे ने एक निर्णय में निजामुद्दीन-कोटा जंक्शन स्पेशल के फेरे को बढ़ा दिया है। ट्रेन संख्या 09809/09810 दोनों दिशाओं से प्रतिदिन 1 अप्रैल तक चलेगी।

खाने पर भी लग सकता है प्रतिबंध – संक्रमण रोकने के लिए वातानुकूलित कोच में कंबल भी नहीं दिया जा रहा, लेकिन अब यात्रियों को दिए जाने वाले खाने पर भी प्रतिबंध लगाया जा सकता है। क्योंकि, पेंट्री कार से खाना परोसने वाले को हर कोच में घूमना पड़ता है। कहीं ऐसा न हो कि एक कोच का संक्रमण दूसरे कोच में खाने के माध्यम से फैल जाए। हालांकि, रेल मंत्रालय अभी इस पर विचार कर रहा है।

आज संसदीय समिति की बैठक – बुधवार को संसदीय समिति की बैठक में रेल मंत्रालय कोरोना को लेकर उठाए जाने वाले कदम से अवगत कराएगा। रेलवे बोर्ड अध्यक्ष कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए सभी जोन के महाप्रबंधकों के साथ बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग भी करेंगे। उधर, रेल मंत्रालय समेत कई रेल मंडल के कार्यालयों और स्टेशनों पर थर्मल स्क्रीनिंग भी की जा रही है। नई दिल्ली स्टेशन पर हेल्प डेस्क बनाई गई है, जहां थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है। मंत्रालयों में विजिटर पास बनना भी बंद कर दिया गया है।

Advertisement