इतना सस्ता हुआ प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना वायरस का इलाज

दिल्लीवासियों को राहत प्रदान करते हुए निजी अस्पतालों में कोरोना वायरस के इलाज के लिए नई दरें लागू कर दी गई हैं। इसके तहत प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना महामारी का इलाज कराने पर अब तीन गुना तक कम कीमत चुकानी होगी। गृह मंत्रालय ने नीति आयोग के नेतृत्व में कमेटी का गठन किया था, जिसने नई दरों की सिफारिश की।

कमेटी ने पीपीई किट के साथ आइसोलेशन बेड्स के लिए आठ हजार से दस हजार रुपए, बिना वेंटिलेटर के आईसीयू बेड का चार्ज 13000-15000 और वेंटिलेटर बेड के साथ 15000-18000 रुपये की दरों को लागू करने की सिफारिश की थी, जिसे मान लिया गया है। अभी ये कीमतें पीपीई किट को हटाकर 24000-25000, 34000-43000 और 44000-54000 रुपये थीं।

गृह मंत्रालय ने बताया, ‘दिल्ली के प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए इलाज के लिए नई दरें लागू कर दी गई हैं।’ गृह मंत्रालय ने कहा कि दिल्ली के 242 कंटेनमेंट ज़ोन में कल घर-घर जाकर स्वास्थ्य सर्वे पूरा ​किया गया। कुल 2.3 लाख लोगों का सर्वे किया गया।’

वहीं, गृह मंत्रालय ने कोरेाना वायरस को लेकर और जानकारी देते हुए बताया कि बैठकों की श्रृंखला में गृहमंत्री अमित शाह द्वारा लिए गए फैसलों का तत्काल पालन करते हुए सैंपल की टेस्टिंग दोगुनी कर दी गई है। दिल्ली में 15 जून से 17 जून 2020 तक कुल 27,263 सैंपल इकट्ठे किए गए जबकि पहले हर दिन 4,000-4,500 के बीच सैंपल इकट्ठे किए जा रहे थे।

दिल्ली में कोविड-19 मरीजों की संख्या 50 हजार के करीब

दिल्ली में कोरोना वायरस (कोविड-19) का संक्रमण पिछले 24 घंटों में कहर बनकर टूटा और रिकॉर्ड 2877 नए मामले सामने आने से कुल संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 50 हजार के करीब पहुंच गया है। इस दौरान कोविड-19 के 65 मरीजों की मौत भी हो गई। दिल्ली सरकार की ओर से गुरुवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, 2877 नए मामले सामने आने से कुल संक्रमितों की संख्या 49979 हो गई है। मृतकों की संख्या 65 और बढ़कर 1969 पर पहुंच गई। इस बीच अच्छी बात यह रही कि दिल्ली में गुरुवार को पहली बार एक दिन में रिकॉर्ड 3884 मरीज कोरोना संक्रमण से जंग जीतकर स्वस्थ हो गए। अब तक 21341 लोग कोरोना को शिकस्त दे चुके हैं।

Advertisement