ट्रांसफर पर कंट्रोवर्सी ! मैं महकमे का मुखिया हु, मैं तय करूंगा- अनिल विज

शनिवार के दिन किए गये 9 सीनियर IPS अधिकारियों के तबादलों पर कंट्रोवर्सी सामने आई है। इन तबादलों से गृह मंत्री अनिल विज सहमत नही थे. असहमति के बावजूद  गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव (एसीएस) RK खुल्लर की ओर से ट्रांसफर के आदेश नियुक्त कर दिए गए।

सूत्रों का कहना है कि CM के प्रिंसिपल सेक्रेटरी आरके खुल्लर की डिप्टी सेक्रेटरी अशीमा बराड़ की ओर से दिन 28 दिसंबर को 9 सीनियर आईपीएस अफसरों की ट्रांसफर लिस्ट बनाकर गृह विभाग के एसीएस खुल्लर को भेजी गई थी, जो मुख्यमंत्री के आदेश बताए गए। इस लिस्ट की सारी कॉपी गृह मंत्री अनिल विज को भेजी गई थी। विज के पास लिस्ट पहुचते ही उन्होंने तुरंत ही बराड़ को जवाब भेज दिया।

इसमें लिखा- मैं आपकी तरफ से भेजी गई ट्रांसफर लिस्ट से सहमत नहीं हूं। महकमे का मंत्री होने के नाते मैं खुद  सभी फैसला करूंगा कि किसे कहां लगाना है और किसे कहा से हटाना है। यदि जरूरत पड़ी तो आपसे भी  सुझाव ले लिया जाएगा। आपके द्वारा भेजी लिस्ट वापस कर रहा हूं।’ इस लिस्ट के बाद भी खुल्लर ने ट्रांसफर के आदेश जारी कर दिए, परन्तु गृह मंत्री विज से किसी ने विचार-विमर्श नहीं किया। उल्लेखनीय है कि 28 दिसंबर तक गृह विभाग के एसीएस आरके खुल्लर ही थे। शनिवार को ही देर रात विजय वर्धन को गृह विभाग का एसीएस लगाया गया है।

सीएम के आदेश बताए गए

सीएम के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर की डिप्टी सेक्रेटरी अशीमा बराड़ की ओर से ट्रांसफर की जो लिस्ट गृह विभाग के एसीएस व गृह मंत्री को भेजी गई थी, उसके साथ एक नोट में लिखा गया है कि सीएम के आदेश हैं कि इन आईपीएस का ट्रांसफर तुरंत प्रभाव से लागू किया जाए।

आईपीएस की लिस्ट जारी होने के बाद बदले गृह सचिव

28 दिसंबर को जब 9 आईपीएस के ट्रांसफर की लिस्ट जारी की गई, तब तक सीएम के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर ही गृह विभाग के एसीएस थे। देर रात आईएएस के ट्रांसफर की लिस्ट में गृह सचिव का पद खुल्लर से लेकर सीनियर आईएएस विजय वर्धन को दिया गया।

मैंने असहमति जताई थी: विज

हां, मेरे पास सीसी किया हुआ नाेट आया था। मैंने उस ट्रांसफर लिस्ट से असहमति जताई थी। इसके बाद मुझे पता नहीं। मेरी किसी से इस विषय पर कोई बात नहीं हुई। -अनिल विज, गृह मंत्री

Advertisement